ताज़ा खबर
 

बड़ी मुश्किल से मिलते हैं कॉलेज के ये खास दोस्त

कहते हैं इस दुनिया में इंसान के लिए दोस्ती सबसे बढ़कर होती है। अपने लाइफ में दोस्त ही एक ऐसा साथी है जिसका चयन हम खुद करते हैं। दोस्ती का रिश्ता प्यार और विश्वास पर टिका होता है।
तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में जानकारी देते हैं जो कॉलेज और ऑफिस के दोस्तों में कितना अंतर होता है(इंडियन एक्सप्रेस)

कहते हैं इस दुनिया में इंसान के लिए दोस्ती सबसे बढ़कर होती है। अपने लाइफ में दोस्त ही एक ऐसा साथी है जिसका चयन हम खुद करते हैं। दोस्ती का रिश्ता प्यार और विश्वास पर टिका होता है। कई दोस्त ऐसे होते हैं जो बचपन से हमारे साथ होते हैं तो कुछ उम्र बढ़ने के साथ-साथ स्कूल और कॉलेज में बन जाते हैं। वहीं कुछ दोस्त ऑफिस में भी बन ही जाते हैं। आपने भी अपने जीवन में इस चीज का अनुभव जरूर किया होगा कि सभी दोस्त एक जैसे नहीं होते हैं। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में जानकारी देते हैं जो कॉलेज और ऑफिस के दोस्तों में कितना अंतर होता है यह बताता है।

# हेल्प के लिए हमेशा तैयार रहते हैं कॉलेज के दोस्त

कॉलेज का समय कब बीत जाता है किसी को पता ही नहीं चलता। अक्सर इसका अहसास तब होता है जब हम कॉलेज से पासआउट हो जाते हैं। इसके बाद हमारी यारी कम नहीं होती, अगर आपको कभी किसी चीज या हेल्प की आवश्यकता हो गई तो आपको कॉलेज का दोस्त हमेशा आपके लिए तैयार रहता है। जबकि ऑफिस वाला दोस्त शायद कुछ नाटक करके मना कर दे।

# मस्तमौला टाइप के होते हैं कॉलेज के दोस्त
मस्ती करने के मामले में कॉलेज के दोस्तों से अच्छा भला और कौन हो सकता है। जब बुलाओ, जहां बुलाओ वो हमेशा आने के लिए तैयार रहते हैं। जबकि ऑफिस वाले दोस्त अपने समय को ज्यादा महत्व देते हैं।
# गप्पें लड़ाने में उस्ताद होते हैं कॉलेज के दोस्त

बात करना हर किसी को अच्छा नहीं होता। कुछ लोग चुप रहना ज्यादा पसंद करते हैं। वहीं कॉलेज की बात करें तो वहां बातें कभी खत्म होने का नाम ही नहीं लेती थी। हर समय किसी न किसी विषय को लेकर बहस चलती ही रहती थी। वहीं अगर बात ऑफिस वाले दोस्त की करें तो वह आपसे बहुत कम गप्पें लड़ाता है क्योंकि काम ज़्यादा होने की वजह से ऐसा नहीं हो पाता, लेकिन आपका कॉलेज वाला दोस्त पूरा बातूनी होता हैं।

# काम छोड़ने के बाद भूल जाते हैं ऑफिस के दोस्त

जब तक काम होता है ऑफिस वाले दोस्त बात करते हैं, लेकिन ऑफिस छोड़ने के बाद कभी याद नहीं करते। वहीं कॉलेज वाला दोस्त हमेशा साथ रहता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.