ताज़ा खबर
 

वर्ल्ड बैंक ने सिंधु जल संधि की प्रक्रिया पर लगाई रोक, कहा- हो सके तो मामला खुद सुलझा लो

वर्ल्ड बैंक ने सिंधु जल संधि पर अहम ऐलान किया है। इसमें उसने भारत और पाकिस्तान द्वारा सिंधु जल संधि को लेकर प्रक्रिया शुरू करने के लिए की गई गुजारिश पर फिलहाल के लिए रोक लगा दी है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ

वर्ल्ड बैंक ने सिंधु जल संधि पर अहम ऐलान किया है। इसमें उसने भारत और पाकिस्तान द्वारा सिंधु जल संधि को लेकर प्रक्रिया शुरू करने के लिए की गई गुजारिश पर फिलहाल के लिए रोक लगा दी है। इसके पीछे वर्ल्ड बैंक का यह नजरिया है कि दोनों देश खुद दूसरे तरीकों से सिंधु जल संधि के मुद्दे को सुलझा लें। वर्ल्ड बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम ने कहा, ‘हम इस विराम को इसलिए ले रहे हैं ताकि सिंधु जल संधि को बचाया जा सके। जिससे दोनों देश आपस में बात करके उसे सुलझा सकें और दो हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्लांट के लगाने के ऊपर जो विवाद है उसे खत्म करने का कोई रास्ता निकाल सकें।’

किम ने यह बात दोनों देशों के वित्त मंत्रियों को लिखकर दिए गए पत्र में कही है। यह भी कहा गया है कि बैंक इस संधि को बचाकर रखना चाहता है। इस रोक के साथ अब बैंक पंचाट की कोर्ट के लिए चेयरमैन की नियुक्ति नहीं करेगा। पहले कहा गया था कि एक तटस्थ विशेषज्ञ बैठाया जाएगा। उम्मीद थी कि 12 दिसंबर को एक तटस्थ विशेषज्ञ को बैठाए जाने की बात कही जा रही थी।

हालांकि, भारत ने वर्ल्ड बैंक के उस फैसले का विरोध किया था। भारत भी समझौते को लेकर वर्ल्ड बैंक का पास पहुंचा था। ऐसे में दोनों देशों के अनुरोध के बाद माना जा रहा था कि मामला कानूनी तौर पर अस्थिर हो सकता है। दोनों देशों की तरफ से एक ही वक्त पर प्रक्रिया के लिए कहा गया था। आशंका थी कि इससे विवाद पैदा करने वाले परिणाम आ सकते हैं। इसको ध्यान में रखकर वर्ल्ड बैंक ने यह फैसला लिया है।

इस वक्त की ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

वीडियो: PoK नेता का खुलासा- LoC पार करने के लिए हर आतंकी को 1 करोड़ रुपए देता है पाकिस्तान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग