December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

कम्युनिस्ट क्रांति के कारण फिदेल कास्त्रो का परिवार हुआ था अलग

फिदेल के सबसे बड़े बेटे फिदेलितो क्यूबा के एक परमाणु वैज्ञानिक थे। वह एकमात्र ऐसे शख्स हुए, जिन्हें कास्त्रो के बच्चे के रूप में आधिकारिक मान्यता मिली।

Author हवाना | November 26, 2016 14:30 pm
क्यूबा के क्रांतिकारी नेता फिदेल कास्त्रो। (AP/PTI/19 April, 2016)

फिदेल कास्त्रो के करीब पांच दशक के शासनकाल में क्यूबा के कई परिवार कम्युनिस्ट क्रांति के कारण बंट गए। इसमें खुद उनका परिवार भी शामिल है। जहां क्यूबा के महान क्रांतिकारी नेता के भाई राउल उनके सबसे करीबी विश्वासपात्र बने और उनके बाद राष्ट्रपति भी बने वहीं उनकी बहन जुआना दक्षिण फ्लोरिडा में निर्वासत हुईं और कास्त्रो को उन्होंने ‘भयानक’ व्यक्ति बताया, जिनसे उन्होंने करीब चार दशक तक बात नहीं की। फिदेल के सबसे बड़े बेटे फिदेलितो क्यूबा के एक परमाणु वैज्ञानिक थे। वह एकमात्र ऐसे शख्स हुए, जिन्हें कास्त्रो के बच्चे के रूप में आधिकारिक मान्यता मिली। एक विवाहित रईस के साथ कास्त्रो के प्रेम संबंध से पैदा हुई सबसे बड़ी बेटी एलिना फर्नांडीज ने मियामी से निर्वासन रेडियो पर अपने पिता पर जमकर हमला बोला था।

कास्त्रो के शुरुआती विवाहेतर संबंधों से बढ़े उनके विशाल वंश को भी अन्य परिवारों की तरह असहमति की स्थिति में दुख का सामना करना पड़ा। कास्त्रो की लंबी बीमारी के दौरान उनके परिवार के बारे में गोपनीय रखी गयी परतें खुलने लगी थी क्योंकि उनके सबसे छोटे बेटे और उनकी मां दालिया सोतो देल वेले उनके आसपास देखे गये। हरी आंखों और गोरी काया वाली पूर्व स्कूल टीचर सोतो देल वेले की 1960 के दशक में क्यूबा के साक्षरता अभियान के दौरान कास्त्रो से मुलाकात हुई थी। यह उनके जीवन का सबसे लंबे समय तक चलने वाला संबंध था। वह सार्वजनिक तौर पर शायद ही कभी दिखीं और जब वह सत्ता में थे तो कास्त्रो के साथ वह कभी देखी नहीं गयीं। सोतो देल वेले से कास्त्रो के पांच बेटे हुए, जो अब अधेड़ आयु में हैं और उनमें से कोई भी राजनीति में सक्रिय नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 26, 2016 2:30 pm

सबरंग