ताज़ा खबर
 

रेप पीड़िता से जज ने कहा- उस समय आपने दोनों घुटने जोड़ कर क्‍यों नहीं रखे

जज ने रेप पीड़िता को ही इस मामले का दोषी माना और दुष्कर्म के आरोपी को बरी कर दिया।
बर्बरता के बाद महिला की मौत, कैदियों ने काटा हंगामा। (Representative Image)

कनाडा में साल 2014 में एलेक्सेंडर स्कॉट नाम के युवक ने एक 19 साल की लड़की का रेप किया गया था। यहां के कैल्गरी शहर में मामले का ट्रायल चला। केस की सुनवाई कर रहे जज रॉबिन कैंप ने ना सिर्फ स्कॉट को आरोप मुक्त माना, बल्कि रेप पीड़िता से ही कई एक अजीबो-गरीब सवाल पूछ बैठे। रॉबिन कैंप ने प‍ीड़‍िता से कहा कि रेप के दौरान उसने अपने घुटने क्‍यों नहीं चिपकाए रखे, ताकि रेप से बच सके।

यह उन कई सवालों में से एक था जो जज ने रेप पीड़िता से पूछे गए। इतनी ही नहीं, जज ने रेप पीड़िता को ही इस मामले का दोषी माना और दुष्कर्म के आरोपी एलेक्सेंडर स्कॉट को बरी कर दिया।

जज की इस हरकत के बाद से दुनिया भर के लोगों में गुस्सा है। यहां तक कि अब तो खुद जज की ही नौकरी खतरे में पड़ गई। अब अपनी नौकरी बचाने के लिए वह खुद अदालत में अपनी सुनवाई के लिए दौड़भाग कर रहे है। इस मामले में अब कैनेडियन ज्‍यूडिशियल काउंसिल के सामने जज कैंप के मामले की सुनवाई हो रही है।

ट्विटर पर लोगों ने इस हरकत के लिए जज को बहुत बुरा-भला कहा। जहां कुछ लोगों को तो भरोसा ही नहीं हुआ कि कोई जज ऐसा भी कह सकता है, वहीं कई लोगों का कहना है कि जज को बर्खास्त कर देना चाहिए।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. P
    Pappu kumar
    Jul 28, 2016 at 5:59 am
    Ye jaj nahi bharthchsri hai .eski beti hoti to kya kaha.
    Reply
  2. A
    ASHOK KUMAR
    Aug 5, 2016 at 10:05 am
    इनके छोटे रास्ते को बड़ा करो
    Reply
  3. G
    Gaurav kumar
    Jul 14, 2016 at 10:43 am
    ऐसे प्रश्न पूछने का मकसद ही आखिर क्या हो सकता है अगर पीड़िता उस विपत्ति काल में ऐसा कुछ कर सकती तो फिर उसका बलात्कार होता ही क्यों? स्पष्ट रूप से प्रकट होता है कि जज भ्रष्टाचारी है और उसने आरोपी की बरी कर तथा पीड़िता से इस तरह का तरह का शर्मनाक सवाल पूछ न्याय व्यवस्था के परखच्चे उड़ा दिए।
    Reply
  4. G
    Giriraj Patidar
    Aug 3, 2016 at 10:28 am
    this man not a Judge it is a criminal , it should hang .
    Reply
  5. J
    jayanti solanki
    Jul 25, 2016 at 5:20 am
    जज साहब यह बेहूदा सवाल है अपनों पर बीतती है तब पता चलता है की कैसा सवाल करना चाहिए?
    Reply
  6. J
    jayas pratap
    Jul 22, 2016 at 5:15 pm
    Judge sab .agr apki beti us jgh rhti to kya aap yhi h dete ?
    Reply
  7. M
    madan gupta
    Jul 10, 2016 at 7:15 pm
    She should have happily removed her under garments to have free excess and more enjoyment.
    Reply
  8. M
    mithanlal
    Aug 1, 2016 at 10:25 am
    ऐसा आदमी जज बने रहने लायक नहीं है
    Reply
  9. O
    Om Parkash Puri
    Jul 13, 2016 at 4:05 pm
    जज को जुड़िशीयल सबूत को प्रमाणित करने वाले ही सवाल पूछने चाहिये, यह सवाल शायद उसने लड़की की मति को जानने केलिये पूछा होगा,किन्तु यह सवाल इस की कसौटी पर ी नही है,रिजिसटैन्स साबित करना, या मति के सबूत में, यह सवाल ी फ़िट नही है, अत: जज साहिब ने रैंप पीडिता से यह सवाल पूछने में गलती की है
    Reply
  10. A
    aasdf
    Aug 6, 2016 at 5:46 pm
    भोसड़ी के जज, तेरी माँ , बहन या बेटी होती तो पता चलता.
    Reply
  11. R
    Ravindra Yadav
    Jul 8, 2016 at 4:11 pm
    प्रकृति ने जीव को आत्मरक्षा के आवश्यक उपाय तो दिए है उनका aaपद काल में प्रयोग करना ही चाहिए.
    Reply
  12. S
    Sandeep Singh
    Jul 11, 2016 at 9:16 am
    जज भोसड़ी का की औलाद, उसकी अपनी माँ बहन का बलात्कार होगा तब भी वो यही करेगा क्या? सला । ये भी कोई तरीका नहीं किसी को रेप से बचने के उपाय का सुझाव देने का। सरकार हर स्त्री को पीपर स्प्रे और टेजर क्यों नहीं प्रदान करते। एक ओर गैरकानूनी ढंग से माफिया हथ्यार इकट्ठे कर सकते हैं तो कानूनी तौर पर औरतों के लिए रेप हेल्पलाइन और बचाव के लिए साधन क्यों नहीं दिए जा सकते? आजकल तो बहुत साड़ी एंड्राइड एप्प्स भी आ गई हैं इस मकसद के लिए।
    Reply
  13. अरुण कान्त
    Jul 16, 2016 at 12:02 pm
    इससे पता चलता है कि जज साहब को रेप करने का बहुत अनुभव है..
    Reply
  14. A
    Amish Kagwadkar
    Aug 6, 2016 at 8:10 pm
    मैंने सोचा यह किसी थर्ड वर्ल्ड देश में हुई घटना है. आज यक़ीन हुआ लोग विश्व में हर जगह पर हैं
    Reply
  15. Load More Comments
सबरंग