December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

कौन जीत सकता है अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2016: डोनाल्ड ट्रंप बनाम हिलेरी क्लिंटन के मुकाबले में क्या हैं चुनावी मुश्किलें

US Presidential elections 2016: आठ नवंबर को होने वाले चुनाव में लगभग 20 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे।

US Presidential elections 2016: न्यूयॉर्क में अपनी-अपनी चुनावी रैली में बोलते डोनाल्ड ट्रंप और हिलेरी क्लिंटन (Reuters Photo)

दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका का 45वां राष्ट्रपति बनने के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की हिलेरी क्लिंटन और रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप के बीच लड़ाई जोरों पर है। दोनों केंडिडेट अपनी तरफ से जीतने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। इस बार के चुनाव की मीडिया में भी सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। अमेरिका के अगले राष्ट्रपति के चयन के लिए आठ नवंबर को होने वाले चुनाव में लगभग 20 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें से तीन करोड़ 50 लाख से ज्यादामतदाता पहले ही मतदान कर चुके हैं। हालांकि, काफी लोगों का चुनावी रुझनों से विश्वास उठ चुका है। क्योंकि पिछले साल Brexit के वक्त अंदाजा लगाया जा रहा था कि यूके यूरोपियन यूनियन से अलग नहीं होगा लेकिन नतीजे आने के बाद पता चला कि अलग होने वालों की जनसंख्या ज्यादा थी।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2016: जानिए कैसे चुना जाता है दुनिया के सबसे ताकतवर देश का नेता, वीडियो:

कितना करीबी है मुकाबला?

ट्रंप शुरू से अच्छा कर रहे थे। उन्होंने कई मायनों में डेमोक्रेटिक पार्टी की हिलेरी क्लिंटन की बराबरी भी कर ली थी। लेकिन उनके कुछ विवादास्पद कमेंट वाली ऑडियो लीक होने के बाद उन्होंने अपने जीतने के चांस कुछ हद तक कम कर दिए। हालांकि, जब एफबीआई ने हिलेरी के खिलाफ जांच के आदेश दिए तो लोगों के बीच ट्रंप में फिर से विश्वास बनने लगा। ABC/Washington Post के सर्वे में दिखाया गया था कि ट्रंप एक प्वाइंट से क्लिंटन से आगे चल रहे हैं। वहीं एक हफ्ते में ही इस पोल में बदलाव आया और बताया गया कि ट्रंप हिलेरी से 12 प्वाइंट पीछे हो गए। वहीं New York Times/NBC के पोल ने हिलेरी को तीन प्वाइंट आगे बताया था। हालांकि, दोनों के बीच में कांटे की टक्कर होगी। लेकिन फिर भी क्लिंटन रेस में आगे चल रही हैं। फॉक्स न्यूज ने अपने ताजा सर्वे में कहा कि ट्रंप (43 फीसद) हिलेरी से (45 फीसद) दो फीसद अंकों से पीछे चल रहे हैं।

प्रेसीडेंसियल डीबेट्स का क्या असर होता है ?

अमेरिका में नया राष्ट्रपति चुनने के लिए व्हाइट हाउस में तीन प्रेसीडेंसियल डीबेट्स हो चुकी हैं। पहली डिबेट जिसे 84 मिलियन लोगों ने देखा था उसमें हिलेरी क्लिंटन ट्रंप से आगे रही थीं। दूसरी डिबेट में भी हिलेरी को फायदा मिला था यह ट्रंप के महिलाओं पर दिए गए एक बयान के सार्वजनिक होने के बाद हुई थी। उसके बाद से महिलाओं के बीच ट्रंप की लोकप्रियता कम होने लगी। हालांकि, फिर भी डिबेट के हिसाब से कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

कब होगी अमेरिका के अगले राष्ट्रपति की घोषणा ?
चुनाव में जीत के लिए उम्मीदवार के पास 270 इलेक्टोरल कॉलेज वोट होने चाहिए फिर इलेक्टोरल कॉलेजियम के बाद 6 जनवरी 2017 को अमेरिका के अगले राष्ट्रपति की घोषणा की जाएगी। 20 जनवरी 2017 से अमेरिका का अगला राष्ट्रपति व्हाइट हाउस में कार्यभार संभालेगा।

कब होंगे अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव
अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव इलेक्शन डे के दिन होंगे जो 8 नवंबर 2016 को है। भारतीय समय के अनुसार शाम 5.30 बजे तक पहले चरण के चुनाव चलेंगे।

कौन – कौन है राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार
अमेरिका में दो मुख्य पार्टी हैं रिपब्लिकन पार्टी और डेमोक्रेटिक पार्टी। रिपब्लिकन पार्टी अमेरिका का राइट विंग है। इस पार्टी की तरफ से डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार हैं। डेमोक्रटिक पार्टी से बराक ओबामा और बिल क्लिंटन अमेरिका के राष्ट्रुति रह चुके हैं। इस बार डेमोक्रटिक पार्टी से हिलेरी क्लिंटन राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हैं।

कौन से राज्‍य हैं जो हवा के साथ बहते हैं

अमेरिका में कुछ राज्‍यों को स्विंग स्‍टेट कहा जाता है। ये वह राज्‍य हैं जिनको ना तो रिपब्लिकन और ना ही डेमोक्रेट भरोसे के साथ अपना मानते हैं। ये राज्‍य हवा के अनुसार अपना रूख बना लेते हैं। उदाहरण के तौर पर बराक ओबामा साल 2008 में नॉर्थ कैरोलिना से जीते थे लेकिन चार साल बाद मिट रोमनी से यहां पर हार गए थे। इसका मतलब है कि इस बार डेमोक्रेट और रिपब्लिकन दोनों यहां से जीत की उम्‍मीद लगाए बैठे हैं। जिन राज्‍यों पर डोनाल्‍ड ट्रंप और हिलेरी क्लिंटन दोनों की नजरें हैं, वे हैं: फ्लोरिडा, ओहियो, वर्जीनिया, नॉर्थ कैरोलिना, न्‍यू हैंपशायर, पेनसिल्‍वेनिया, आयोवा, कोलारेडो और नेवादा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 6, 2016 3:31 pm

सबरंग