December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

जब फिदेल कास्त्रो ने अचानक से इंदिरा गांधी को लगाया था गले

फिदेल कास्त्रो का आज यानी शनिवार (26 नवंबर) को निधन हो गया। उनके भारत और खासकर नेहरू गांधी परिवार के साथ अच्छे संबंध थे।

फिदेल कास्त्रो और इंदिरा गांधी की तस्वीर।

फिदेल कास्त्रो का आज यानी शनिवार (26 नवंबर) को निधन हो गया। उनके भारत और खासकर नेहरू गांधी परिवार के साथ अच्छे संबंध थे। वह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को अपनी बहन जैसा मानते थे। दोनों 1983 में गुटनिरपेक्ष शिखर सम्मेलन में मिले भी थे। वहां फिदेल कास्त्रो ने प्यार से इंदिरा गांधी को गले भी लगाया था। वह सम्मेलन नई दिल्ली में हुआ था। उस मौके पर फिदेल क्यूबा के डेलिगेशन के साथ आए थे। फिदेल ने कहा था, ‘हमने 1979 में पिछला गुट निरपेक्ष सम्मेलन हवाना में किया था। अगला सम्मेलन मेरी बहन इंदिरा गांधी के यहां हो रहा है इस बात की मुझे बेहद खुशी है।’ यह कहकर फिदेल कास्त्रो ने अचानक से इंदिरा गांधी को गले लगा लिया था जिसे देखकर पूरा हॉल हैरान रह गया था। वह सम्मेलन विज्ञान भवन में हुआ था। इसके बाद पूरा हाल तालियां की गड़गड़ागट के गूंज उठा था। वह कास्त्रो का आखिरी भारत दौरा था।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो के निधन पर शोक व्यक्त किया। सोनिया ने कहा कि कास्त्रो ने दमित लोगों का तथा वंचित वर्गों का नेतृत्व किया और स्वतंत्रता की आवाज को मजबूत करने वाली हर कोशिश के साथ खड़े हुए। उन्होंने कहा कि कास्त्रो के निधन से हुआ नुकसान केवल क्यूबा या एक खास विचारधारा तक ही सीमित नहीं है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने एक बयान में कहा ‘‘निर्गुट आंदोलन के लिए उनका योगदान और विभिन्न मंचों पर भारत के मुद्दों के लिए उनका समर्थन हमेशा ही भारतीयों के दिलों दिमाग में रहेगा।’’क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति एवं क्रांतिकारी नेता फिदेल कास्त्रो का 90 साल की उम्र में हवाना में निधन हो गया।

फिदेल कास्त्रो और इंदिरा गांधी की तस्वीर। फिदेल कास्त्रो और इंदिरा गांधी की तस्वीर।

 

इस वक्त की ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 26, 2016 3:07 pm

सबरंग