December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

अमेरिका ने पाक को दी चेतावनी- आपने नहीं किया तो हम अकेले आतंकी ठिकानों को तबाह कर देंगे

अमेरिका ने पाकिस्‍तान को आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई करने की धमकी दी है। अमेरिका ने माना है कि पाक की खुफिया एजेंसी आईएसआई सभी आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है।

अमेरिका (बाएं) और पाकिस्तान का झंडा।

अमेरिका ने पाकिस्‍तान को आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई करने की धमकी दी है। अमेरिका ने माना है कि पाक की खुफिया एजेंसी आईएसआई सभी आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है। आतंकियों को वित्‍तीय मदद के खिलाफ काम करने वाले विभाग के अंडर सेक्रेटरी एडम स्‍जुबिन ने बताया, ”समस्‍या यह है कि पाकिस्‍तानी सरकार में जो ताकतें हैं विशेष रूप से पाकिस्‍तान की आईएसआई में वे सभी आतंकी गुटों पर कार्रवाई करने से मना करती है। वे कुछ गुटों को सहन कर रहे हैं।” उन्‍होंने पॉल एच नित्‍जे स्‍कूल ऑफ एडवांस्‍ड इंटरनेशनल स्‍टडीज में एक कार्यक्रम के दौरान यह बयान दिया। हालांकि उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान कई मायनों में अमेरिका का आतंकविरोधी कार्रवाई में साथी रहा है और रहेगा।

स्‍जुबिन ने चेताया, ”हम पाकिस्‍तान में हमारे साथियों से अपील करते हैं कि वे वहां मौजूद सभी आतंकी नेटवर्क पर कार्रवाई करें। हम उनकी मदद करने को तैयार हैं। लेकिन इसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए कि जहां हम आतंकी संगठनों को वित्‍तीय मदद और उनके ऑपरेशन को खत्‍म करने के लिए पाकिस्‍तान के साथ हैं लेकिन अकेले कार्रवाई करने में भी सक्षम हैं। जब जरुरत होगी हम उन नेटवर्क पर अकेले कार्रवाई करने और उन्‍हें तबाह करने से हिचकेंगे नहीं।” अंडर सेक्रेटरी ने साथ ही कहा कि पाकिस्‍तान भी आतंक से पीडि़त रहा है। उन्‍होंने कहा, ”निसंदेह, पाकिस्‍तानी भी स्‍कूलों, बाजार और मस्जिदों में निर्दयी आतंकी हमलों के पीडि़त रहे हैं। यह सूची दुर्भाग्‍य से काफी लंबी है। इस तरह की हिंसा से पाकिस्‍तान पीछे रह गया है।”

स्‍जुबिन ने कहा, ”पाकिस्‍तान को उत्‍तरपश्चिमी हिस्‍से में पारंपरिक आतंकियों के सुरक्षित ठिकानों को नष्‍ट करने में सफलता मिली है। उसने आईएसआर्इएल को आधिकारिक रूप से आतंकी संगठन घोषित किया है। साथ ही तहरीक ए तालिबान पाकिस्‍तान की गतिविधियों और फंडिंग पर भी रोक लगाई है।” उन्‍होंने साथ ही कहा कि आईएसआई के आतंकी गठनों को मदद करने की समस्‍या बरकरार है। अमेरिका इसे बात का समर्थक नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 23, 2016 1:36 pm

सबरंग