December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

डोनाल्ड ट्रंप पर बरसा मीडिया, बताया- अमेरिकी लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर चोट करने वाला

तीसरी बहस में जब ट्रंप से पूछा गया कि क्या वह आठ नवंबर के राष्ट्रपति के चुनाव के नतीजे को स्वीकार करेंगे तो उन्होंने कहा कि वह तब देखेंगे।

Author लॉस वेगास | October 20, 2016 17:20 pm
रिपब्लिकन पार्टी में राष्ट्रपति चुनाव पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप। (एपी फाइल फोटो)

रिपब्लिकन राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी नतीजों को स्वीकार करने से इनकार करने संबंधी बयान को शीर्ष अमेरिकी अखबारों ने गुरुवार (20 अक्टूबर) को लोकतंत्र की अवमानना करार दिया। वॉशिंगटन पोस्ट ने अपने संपादकीय में लिखा, ‘ट्रंप द्वारा अमेरिकी लोकतंत्र का विस्मयकारी तिरस्कार’ जबकि न्यूयार्क टाइम्स ने उसे लोकतंत्र की ‘अवमानना’ करार दिया। न्यूयॉर्क टाइम्स संपादीकय बोर्ड ने कहा, ‘अंत के कुछ सप्ताहों के दौरान मिस्टर ट्रंप की तुनकमिजाजी को उनकी संभावित हार को तर्कसंगत बनाने की पराजित व्यक्ति की बेतुका कोशिश है। लेकिन लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर उनके प्रहार से देश पर स्थायी नुकसान का जोखिम है और दोनों दलों के नेताओं को उनसे और उनके चिडचिड़ेपन से पीछे हट जाना चाहिए।’

तीसरी बहस में जब ट्रंप से पूछा गया कि क्या वह आठ नवंबर के राष्ट्रपति के चुनाव के नतीजे को स्वीकार करेंगे तो उन्होंने कहा कि वह तब देखेंगे। वॉशिंगटन पोस्ट ने लिखा कि वैसे तो बहस के दौरान हिलेरी क्लिंटन से कुछ चूकें हुईं लेकिन ट्रंप विरोधी की कुछ सामान्य बातों के सामने फीके पड़ गए जो अमेरिकी लोकतंत्र की मूलभूत बातों को नहीं स्वीकार करेंगे। वॉल स्ट्रीट जर्नल ने लिखा, ‘मिस्टर ट्रंप की सबसे बड़ी भूल उनका यह कहना है कि यदि वह चुनाव हार जाते हैं तो वह चुनाव नतीजे को स्वीकार नहीं करेंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 20, 2016 5:20 pm

सबरंग