December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

क्लिंटन कैंपेन ने एफबीआई की मंशा पर जताई आशंका, मांगी विस्तृत जानकारी

एफबीाई को ऐसे ईमेलों की के बारे में पता चला है जो ओबामा प्रशासन के पहले कार्यकाल में हिलेरी द्वारा विदेश मंत्री के तौर पर निजी सर्वर एवं निजी ईमेलों के इस्तेमाल की जांच से जुड़े हैं।

Author वॉशिंगटन | October 29, 2016 13:05 pm
अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार थीं हिलेरी क्लिंटन। (REUTERS/Aaron P. Bernstein)

हिलेरी क्लिंटन के ईमेल घोटाले की जांच फिर से खोले जाने के एफबीआई के निर्णय से स्तब्ध उनकी प्रचार मुहिम ने राष्ट्रपति पद के चुनाव से मात्र कुछ ही दिन पहले उठाए गए एजेंसी के इस कदम पर गंभीर चिंता व्यक्त की है और जांच के संबंध में विस्तृत जानकारी दिए जाने की मांग की है। ‘क्लिंटन कैंपेन’ के अध्यक्ष जॉन पोडेस्टा ने शुक्रवार (28 अक्टूबर) को अपराह्न कड़े शब्दों का इस्तेमाल करते हुए बयान में कहा, ‘यह असाधारण बात है कि हम राष्ट्रपति पद के चुनाव से मात्र 11 दिन पहले इस प्रकार का कुछ देखेंगे। निदेशक का अमेरिकी लोगों के प्रति दायित्व है कि वह उन्हें इस बात की पूर्ण जानकारी तत्काल मुहैया कराएं कि वह क्या जांच कर रहे हैं। हमें भरोसा है कि जुलाई में एफबीआई जिस निष्कर्ष पर पहुंचा था, इस बात से वह निष्कर्ष प्रभावित नहीं होगा।’

हिलेरी की प्रचार मुहिम को उस समय झटका लगा था जब उसे अमेरिकी मीडिया से पता चला कि एफबीआई के निदेशक जेम्स कोमे ने कांग्रेस के शीर्ष नेताओं को पत्र लिखकर सूचित किया है कि उन्हें ऐसे ईमेलों की मौजूदगी के बारे में पता चला है जो ओबामा प्रशासन के पहले कार्यकाल में वर्ष 2009 से 2012 के बीच हिलेरी द्वारा विदेश मंत्री के तौर पर निजी सर्वर एवं निजी ईमेलों के इस्तेमाल की जांच से जुड़े प्रतीत होते हैं। कोमे ने कई सदन समिति अध्यक्षों को लिखे एक पत्र में कहा, ‘एक दूसरे मामले में एफबीआई को उन ईमेलों का पता चला है जो इस जांच से जुड़े हो सकते हैं।’ कोमे को गुरुवार को इस मामले के बारे में बताया गया था।

उन्होंने लिखा, ‘मैं आपको यह सूचित करने के लिए पत्र लिख रहा हूं कि जांच दल ने कल (शुक्रवार, 28 अक्टूबर) मुझे बताया था और मैं सहमत हो गया था कि एफबीआई को जांच के लिए उचित कदम उठाने चाहिए जो जांचकर्ताओं को इन ईमेलों का अध्ययन करके यह पता लगाने में मदद करें कि क्या इनमें गोपनीय जानकारी थी। उन्हें हमारी जांच में इन ईमेलों की प्रासंगिकताओं का आकलन भी करना है।’ हिलेरी के रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप ने इस घटनाक्रम को एक ‘बड़ा दिन’ और इस मामले को ‘वाटरगेट’ घोटाले से भी बड़ा बताया है। इस मामले में एफबीआई ने अभी कोई टिप्पणी नहीं है। शीर्ष डेमोक्रेटिक नेता नैंसी पेलोसी ने भी पोडेस्टा के सुर में सुर मिलाते हुए एफबीआई से इस संबंध में विस्तृत जानकारी मुहैया कराने को कहा। सीनेटर डियाने फीनस्टीन ने आरोप लगाया कि यह चुनाव को प्रभावित करने के लिए किया गया सीधा हस्तक्षेप है। इसके अलावा डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी की अंतरिम अध्यक्ष डोन्ना ब्राजीले ने भी एफबीआई के इस कदम को ‘गैरजिम्मेदाराना’ कहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 29, 2016 1:05 pm

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग