ताज़ा खबर
 

कश्मीर में भड़काऊ बयान न देने की अपील की अमेरिका ने

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने बुरहान वानी को आजादी के आंदोलन का शहीद करार दिया। कैबिनेट ने 19 जुलाई के दिन को काला दिन के तौर पर मनाने का फैसला किया।
Author वाशिंगटन | July 17, 2016 00:03 am
कश्‍मीर घाटी में आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से तनाव है। (Photo Source: PTI)

कश्मीर में मारे गए हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को शहीद बताने और यह कहने कि कश्मीरियों के खिलाफ भारतीय सेना के अत्याचार के विरोध में 19 जुलाई को काला दिन मनाने के पाकिस्तान के आह्वान के एक दिन बाद अमेरिका ने कश्मीर में उकसावे वाले बयानों और हिंसा में कमी लाने का आह्वान किया है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता एलिजाबेथ ट्रूडो ने शुक्रवार (15 जुलाई) को कहा कि यह ऐसी स्थिति है, जहां इसके सभी पक्षों को उकसावे वाले बयान और हिंसा में कमी लाने और ऐसी स्थिति में वापस जाने की आवश्यकता है, जिसमें वे संवाद कर सकें। उन्होंने कहा कि जाहिर तौर पर हम इस स्थिति पर बेहद चिंतित हैं। हिंसा पर हम बेहद चिंतित हैं।

कश्मीर के कोकरनाग में आठ जुलाई को भारतीय सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में बुरहान के मारे जाने के समर्थन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के 19 जुलाई को काला दिन के रूप में मनाए जाने की घोषणा को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में ट्रूडो ने ये बातें कहीं। कोकरनाग में मुठभेड़ में बुरहान की मौत के विरोध में सप्ताह भर चले संघर्षों में कम से कम 38 लोगों की मौत हो गई और 1500 सुरक्षा बलों सहित 3100 लोग घायल हुए हैं। ट्रूडो ने कहा कि अमेरिका क्षेत्र में तनाव बढ़ाने के किसी आह्वान का समर्थन नहीं करेगा।

एक अन्य सवाल के जवाब में प्रवक्ता ने कहा कि मैं यह नहीं कहूंगी कि हम लोग तनाव बढ़ाने के किसी भी आह्वान या उकसावे वाले बयान को बढ़ावा देने का समर्थन करेंगे। इस संबंध में हम अपनी स्थिति को लेकर बहुत स्पष्ट हैं। कश्मीर की स्थिति पर चर्चा के लिए एक विशेष कैबिनेट बैठक को संबोधित करते हुए शरीफ ने इसे आजादी के आंदोलन के बतौर कश्मीरियों का आंदोलन करार दिया था।

रेडियो पाकिस्तान की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री ने बुरहान वानी को आजादी के आंदोलन का शहीद करार दिया। कैबिनेट ने 19 जुलाई के दिन को काला दिन के तौर पर मनाने का फैसला किया। इस बीच, पाकिस्तान ने कश्मीर में स्थिति के बारे में अफ्रीकी व पश्चिम एशियाई देशों के दूतों को भी अवगत कराया। कश्मीर में लोगों और भारतीय सुरक्षा बलों के बीच घातक संघर्षों के विरोध में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हजारों लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग