December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

संयुक्त राष्ट्र ने कहा- सीरिया में युद्ध कानूनों की हो रही है अवहेलना, 25000 लोगों को छोड़ना पड़ा अपना घर

ओ’ब्रायन ने सीरिया सरकार से कहा कि वह संयुक्त राष्ट्र और इसके मानवीय सहयोगियों को बिना किसी प्रतिबंध के लोगों तक दवाइयां और भोजन पुहंचाने की इजाजत दें।

Author संयुक्त राष्ट्र | December 1, 2016 13:57 pm
सीरिया के अलेप्पो शहर के नजदीक विद्रोहियों के कब्जे वाले अल-कातरजी में हवाई हमले के बाद वहां से घायल बच्चे को निकालकर सुरक्षित स्थान पर ले जाता एक व्यक्ति। (REUTERS/Abdalrhman Ismail/21 Sep, 2016/File)

संयुक्त राष्ट्र में मानवीय मामलों के प्रमुख ने कहा है कि सीरियाई संघर्ष में शामिल पक्षों ने व्यवस्थित तरीके से युद्ध कानूनों की अवहेलना की है और बार बार यह दिखाया है कि वे सैन्य बढ़त हासिल करने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। संयुक्त राष्ट्र के मानवीय मामलों के प्रमुख स्टीफन ओ’ब्रायन ने जिनेवा से वीडिया लिंक के जरिये बुधवार (30 नवंबर) को अपनी बातें रखीं और कहा, ‘ऐसी कोई सीमा नहीं है, जिसे युद्ध में पार नहीं किया गया हो। कई पीढ़ियों के दर्दनाक कष्टों से सबक लेते हुए जिनेवा सम्मेलन में युद्ध के जो नियम तय किए गए थे, उसका व्यवस्थित रूप से सीरिया में अपमान किया गया है।’

ओ’ब्रायन ने कहा कि शनिवार के बाद से करीब 25000 लोगों को अपने घरों को छोड़कर जाना पड़ा है जिनमें अधिकतर महिलाएं एवं बच्चे है और सीरियाई बलों की ओर से हमले तेज होने के मद्देनजर आगामी दिनों में हजारों और लोगों के अपने घर छोड़कर जाने की आशंका है। उन्होंने कहा कि पूर्वी अलेप्पो के किसी भी अस्पताल में सुचारू रूप से काम नहीं हो पा रहा है। अलेप्पो करीब 150 दिनों से घेरेबंदी में है। वे लोग जो इस स्थिति में फंसे हुए हैं, उनके पास लंबे समय तक जीवित रहने के कोई साधन नहीं हैं। ओ’ब्रायन ने सीरिया सरकार से कहा कि वह संयुक्त राष्ट्र और इसके मानवीय सहयोगियों को बिना किसी प्रतिबंध के लोगों तक दवाइयां और भोजन पुहंचाने की इजाजत दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 1:57 pm

सबरंग