December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

अलेप्पो में करीब 500 लोगों की मौत, खाने-पीने के वस्तुओं की किल्लत: संरा प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने चेताया कि सात जुलाई के बाद से अलेप्पो में संयुक्त राष्ट्र का कोई राहत काफिला नहीं पहुंच पाया।

Author संयुक्त राष्ट्र | October 21, 2016 14:25 pm
सीरिया के अलेप्पो शहर के नजदीक विद्रोहियों के कब्जे वाले अल-कातरजी में हवाई हमले के बाद वहां से घायल बच्चे को निकालकर सुरक्षित स्थान पर ले जाता एक व्यक्ति। (REUTERS/Abdalrhman Ismail/21 Sep, 2016/File)

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने कहा है कि अलेप्पो में रूस और सीरियाई बलों की बमबारी के भयावह परिणाम सामने आए हैं क्योंकि करीब 500 लोगों की मौत हो गई है और इस माह के अंत तक वहां खाद्य सामग्री की भी घोर किल्लत होने की आशंका है। बान ने गुरुवार (20 अक्टूबर) को संयुक्त राष्ट्र महासभा की एक विशेष बैठक में कहा कि 22 सितंबर को सीरिया सरकार द्वारा, पांच साल से जारी गृह युद्ध में विद्रोहियों के खिलाफ अब तक का सर्वाधिक तेज अभियान शुरू किए जाने के बाद अलेप्पो के पूर्वी हिस्से में हवाई हमले किए गए। पूर्वी अलेप्पो पर विद्रोहियों की पकड़ है। बान के अनुसार, इन हवाई हमलों के भयावह नतीजे सामने आए हैं।

हमले में कम से कम 500 लोगों की जान चली गई ओर करीब 2,000 घायल हो गए हैं। मरने वालों में ज्यादातर बच्चे हैं। बान ने चेताया कि सात जुलाई के बाद से अलेप्पो में संयुक्त राष्ट्र का कोई राहत काफिला नहीं पहुंच पाया और अक्तूबर के अंत तक वहां राशन तथा आवश्यक वस्तुओं की घोर किल्लत हो जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि भूख का युद्ध के हथियार के तौर पर उपयोग किया जा रहा है। कनाडा की अध्यक्षता में 27 देशों ने महासभा की बैठक बुलाई थी जिसका उद्देश्य शांति प्रयासों को पुनर्जीवित करने और बम हमलों को रोकने के लिए सुरक्षा परिषद द्वारा कार्रवाई करने में नाकाम रहने के कारण उत्पन्न गतिरोध दूर करना था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 21, 2016 2:25 pm

सबरंग