ताज़ा खबर
 

ब्रिटेन में डोनाल्‍ड ट्रंप राजकीय यात्रा रोकने के लि‍ए 15 लाख लोगों ने साइन किया पिटीशन, संसद में भी हुई बहस

ब्रिटिश पीएम टेरीजा ने पिछले हफ्ते अमेरिका यात्रा के दौरान महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की तरफ से ट्रंप को ब्रिटेन आने का न्योता दिया था।
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। (Source: AP Photo)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सात मुस्लिम देशों के नागरिकों पर अमेरिका आने पर रोक लगाने से जुड़ी आप्रवासन नीति के विरोध में ब्रिटेन में 15 लाख लोगों ने एक याचिका पर दस्तखत करके ट्रंप को राजकीय अतिथि के तौर पर बुलाने का विरोध किया। याचिकाकर्ताओं का कहना है कि ट्रंप निजी हैसियत से ब्रिटेन आ सकते हैं लेकिन सरकारी अतिथि के तौर पर नहीं। हालांकि याचिका पर 10 लाख से ज्यादा लोगों के दस्तखत हो जाने के बाद ब्रिटेन की संसद (हाउस ऑफ कामंस) ने इस मुद्दे पर बहस की। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने इस मांग के परोक्ष रूप से अस्वीकार करते हुए कहा, “ब्रिटेन का नजरिया अलग है।”  ब्रिटिश पीएम टेरीजा ने पिछले हफ्ते अमेरिका यात्रा के दौरान महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की तरफ से ट्रंप को ब्रिटेन आने का न्योता दिया था।

पीएम टेरीजा ने एक प्रेसवार्ता में कहा, “अमेरिका ब्रिटेन का नजदीकी साझीदार है। हम कई साझा हितों के क्षेत्र में मिलकर काम करते हैं। हमारा रिश्ता खास है। मैंने अमेरिकी राष्ट्रपति को राजकीय दौरे पर निमंत्रित किया है और हमारा न्योता यथावत है।”  पीएम टेरीजा ने याचिकाकर्ताओं की मांग के अनुरूप ट्रंप की आलोचना नहीं की। ब्रिटेन में ट्रंप की ब्रिटेन यात्रा के खिलाफ सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं विपक्षी लेबर पार्टी के सांसद जेरेमी कॉर्बिन ने भी पीएम टेरीजा को पत्र लिखकर ट्रंप को ब्रिटेन बुलाने का विरोध किया। ट्रंप सरकार ने इराक, ईरान, सीरिया, लीबिया, सोमालिया, सूडान और यमन के नागरिकों पर 90 दिनों तक अमेरिका आने पर रोक लगा दी है।

petition against donald trump ब्रिटेन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की राजकीय यात्रा के विरोध में चलायी जा रही याचिका। (स्क्रीनशॉट)

इससे पहले ब्रिटिश संसद में इस मुद्दे पर हुई बहस में विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन ने सांसदों को ट्रंप की तुलना एडोल्ड हिटलर से करने के प्रति आगाह किया। जॉनसन ने कहा कि दोहरी नागरिकता वाले ब्रिटिश नागरिक अमेरिका प्रतिबंध से प्रभावित नहीं होंगे। जॉनसन ने उस अफवाह पर स्पष्टीकरण दिया कि अमेरिका द्वारा प्रतिबंधित देशों के जिन नागरिकों के पास ब्रिटिश पासपोर्ट है उन पर रोक लगी है। जॉनसन ने कहा, “मैं ये स्पष्टीकरण दे सकता हं कि ब्रिटिश पासपोर्ट रखने वाले पहले ही की तरह अमेरिका जा सकेंगे।”

ट्रंप की ब्रिटेन की राजकीय यात्रा के खिलाफ दायर याचिका में कहा गया है कि ट्रंप को ब्रिटेन की आधिकारिक राजकीय यात्रा पर नहीं बुलाया जाना चाहिए क्योंकि यह महारानी के लिए मुसीबत पैदा करेगा। याचिका में कहा गया है, “डोनाल्ड ट्रंप के स्त्री विरोधी और अश्लील बयान उन्हें ब्रिटेन की महारानी या प्रिंस ऑफ वेल्स का मेहमान बनने के अयोग्य बनाता है। इसलिए ट्रंप को राष्ट्रपति रहने के दौरान ब्रिटेन में आधिकारिक राजकीय यात्रा पर नहीं आमंत्रित किया जाना चाहिए।”

देखें ब्रिटिश संसद में डोनाल्ड ट्रंप की राजकीय यात्रा पर हुई बहस-

वीडियो: डोनाल्ड ट्रंप ने कार्यकारी अटॉर्नी जनरल को किया बर्खास्त; प्रवासियों पर बैन लगाने के आदेश का किया था विरोध

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.