ताज़ा खबर
 

एसी, कूलर या बिजली के किसी उपकरण के बिना बाहर से 20 फीसदी कम रहेगा घर-दफ्तर का तापमान, जानिए कैसे

कोलोराडो यूनिवर्सिटी के 2 वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने ऐसी फिल्म बना है जिसे इमारत पर लगाने से उसके अंदर का तापमान ठंडा बना रहेगा और इसमें बिजली भी खर्च नहीं होगी जिससे ग्लोबल वार्मिंग कम करने में भी मदद मिलेगी।
वैज्ञानिक रौंग्गूई यैंग और जियाबो यिन अपने नए आविष्कार के साथ। (Source: Colorado Boulder University)

दुनियाभर में ग्लोबल वार्मिंग का खतरा बढ़ता जा रहा है इस बात से आप सभी परिचित हैं। वैज्ञानिक भी सैकड़ों तरह के प्रयोग कर इस खतरे को कम करने की कोशिश में हैं। इसी कोशिश में दो वैज्ञानिकों ने नई सफलता हासिल की है। एक अनुमान के मुताबिक अमेरिका की 6 फीसद बिजली की खपत एयरकंडिश्निंग में होती है और इतनी ही खपत अमूमन सभी विकसित देशों में भी होती है। एयरकंडिश्निंग मशीनों का धरती का तापमान बढ़ाने में खासा योगदान है इस बात से सभी सहमत हैं। यह न सिर्फ तापमान बढ़ाता है बल्कि कई तरह की खतरनाक गैसों का उत्सर्जन भी करता है।

कोलोराडो यूनिवर्सिटी के 2 वैज्ञानिक रौंग्गूई यैंग और जियाबो यिन का दावा है कि उन्होंने एक ऐसी फिल्म इजात कर ली है जिसे इमारत पर लगाने से उसके अंदर का तापमान ठंडा बना रहेगा। दावे के मुताबिक इस फिल्म के इस्तेमाल में कोई बिजली खर्च नहीं होगी। फिल्म को सिर्फ इमारत या घर पर लगाना होगा। यह फिल्म रेडिएटिव कूलिंग प्रॉसेस के जरिए काम करेगी।
इस फिल्म को बनाने में polymethylpentene नाम के एक पदार्थ का इस्तेमाल किया गया है जिसमें ग्लास के छोटे-छोटे टुकड़े मिलाए गए हैं। वहीं सीट की एक साइड पर सिल्वर का भी इस्तेमाल किया गया है जो सूरज की किरणों को रिफ्लेक्ट करने का काम करती हैं।

वैज्ञानिकों की टीम की मानें तो 20 स्क्वेयर मीटर की एक फिल्म, एक एवरेज अमेरिकी के घर का तापमान 20°C पर ला सकती है अगर बाहरी तापमान 37°C है तो। वहीं इसकी एक और खास बात यह भी होगी कि इसे रोल-टू-रोल मेकिंग तकनीक से भी तैयार किया जा सकता है। वहीं इस फिल्म की कीमत की बात करें तो यह 50 सेंट(अमेरिकी) स्क्वेयर मीटर होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.