ताज़ा खबर
 

कुलभूषण के फांसी पर रोक से बौखलाया पाकिस्तानी मीडिया, बताया बड़ी अदालत का छोटा फैसला

पाकिस्तान से दीन न्यूज चैनल का कहना है कि कहने को इंटरनेशनल कोर्ट बहुत बड़ा है, लेकिन वो हमेशा ही छोटा फैसला सुनाता है।
पूर्व भारतीय नेवी ऑफीसर कुलभूषण जाधव

कुलभूषण जाधव मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) से झटका मिलने के बाद पाकिस्तान काफी बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान इस हार को हमज नहीं कर पा रहा है वो लगातार आईसीजे और भारत पर उंगली उठा रहा है। लेकिन उसकी बौखलाहट कोई काम नहीं आने वाली, क्योंकि इंटरनेशनल कोर्ट ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने अपने अंतिम फैसले तक फांसी पर रोक लगा दी है। नीदरलैंड के द हेग में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने पाकिस्तान को आदेश दिया है कि फैसला आने तक पाकिस्तान इस मामले में कोई कार्रवाई न करे।

आईसीजे ने साफतौर पर कहा कि भारत को काउंसलर एक्सेस मिलना चाहिए था। लेकिन पाकिस्तान ने ऐसा नहीं किया। कोर्ट ने यह भी कहा कि जाधव पर पाकिस्तान का दावा मायने नहीं रखता। इंटरनेशनल कोर्ट की फटकार के बाद पाकिस्तान बिल्कुल बौखलाया हुआ है। इसी क्रम में पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय से एक बयान आया है कि वो भारत के खिलाफ मुहिम शुरु करेगा और कुलभूषण मामले में वो भारत के चेहरा बेनक़ाब करेगा। लेकिन भारत ने पाकिस्तान को जवाब नहीं दिया है। वो इंटरनेशनल कोर्ट के अंतिम फैसला का इंतजार कर रहा है। भारत का कहना है कि ये कोई पहली दफा नहीं है, जब भी पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ती है वो हर बार कोई न कोई ऐसी बचकानी हरकत करता है। बता दें कि इंटरनेशनल कोर्ट में इससे पहले भी तीन बार पाकिस्तान हार मिल चुकी है।

एक और जहां भारतीय मीडिया में खुशी का माहौल है वहीं दूसरी ओर पाकिस्तानी मीडिया में भारत और इंटरनेशनल कोर्ट को लेकर सवाल उठाया जा रहा है। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंटरनेशनल कोर्ट के अध्यक्ष रॉनी अब्राहम पर पक्षपात करने का आरोप लगया जा रहा है। ज्यादातर पाकिस्तानी मीडिया इंटरनेशनल कोर्ट के फैसले को छोटा फैसला बता रही है। उनका आरोप ये भी है कि हर बार आईसीजे भारत के पक्ष में ही फैसला सुनाता है।

पाकिस्तान से दीन न्यूज चैनल का कहना है कि कहने को इंटरनेशनल कोर्ट बहुत बड़ा है, लेकिन वो हमेशा ही छोटा फैसला सुनाता है। उसका कहना था कि आखिर क्या जरुरत थी पाकिस्तान को वहां जाने की। लेकिन बाद में दीन न्यूज चैनल अपनी खबरों से मुकर गया। फिर कहा भारत ने याचिका दायर किया था। वो पहले से ही तैयारी कर चुका था। उसको पता था कि अपने प्लान के मुताबिक इंटरनेशनल कोर्ट में केस कैसे लड़ना है।

वहीं पाकिस्तान के कैपिटल टीवी का कहना है कि भारत कुलभूषण मामले में पहला राउंड जीत चुका है। चैनल पर आए एक गेस्ट ने कहा कि पाकिस्तान ने ऐसे ही कुलभूषण को फांसी की सजा नहीं सुनाई, जरूर उसके खिलाफ सबूत होंगे, जो जल्द दुनिया के सामने आ जाएगा। वहीं चैनल पर दूसरे गेस्ट ने पाकिस्तान की कागजी कार्रवाई को कमजोर बताया।

अब तक न्यूज चैनल पर एक गेस्ट ने फोन लाइन पर कहा कि कुलभूषण मामले में भारत पाकिस्तान को कोर्ट में ला चुका है। पहली हार से पाकिस्तान को हार नहीं माननी चाहिए। अब इससे आगे की कार्यवाही करनी चाहिए। भारत के खिलाफ ठोस सबूत जुटाकर कोर्ट में जाना चाहिए।

सोशल मीडिया पर पाक का रिएक्शन

सोशल मीडिया पर भी पाकिस्तान के लोग #HangKulbhushan हैशटेग से ट्वीट कर रहे हैं और इंटरनेशनल कोर्ट को हिदायत दे रहे हैं कि इस मामले में बीच में न आए ये पाकिस्तान का निजी मसला है। कोई कह रहा है कि कुलभूषण भारतीय जासूस है और आतंकवादी है। उसे किसी से पूछने की जरूरत नहीं कि फांसी दें या नहीं।

वहीं भारत के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने इंटरनेशनल कोर्ट के फैसले को सही ठहराया है। सहवाग ने पाकिस्तान को जवाब देते हुए ट्वीट किया कि जैसे पाकिस्तान वर्ल्ड कप में हराने का सपना देखता है लेकिन पूरा नहीं हो पाता वैसे ही वो इस बार भी गलत फहमी न पाले।

कुल मिलाकर कुलभूषण मामले में दूसरा जंग इन दिनों सोशल मीडिया पर छिड़ा हुआ है। अब देखना ये होगा कि इंटरनेशनल कोर्ट का अंतिम फैसला किसके पक्ष में आता है। हालांकि, अभी तक तो सवाल-जवाब का दौड़ चल रहा है।

देखिए वीडियो - कौन हैं कुलभूषण जाधव? जानिए क्या हैं उन पर आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 19, 2017 5:08 pm

  1. No Comments.
सबरंग