January 22, 2017

ताज़ा खबर

 

अफगानिस्‍तान: मोहर्रम से एक दिन पहले काबुल की शिया मस्जिद में आतंकी हमला, 14 के मारे जाने की खबर

अफगानिस्तान में पिछले दिनों में शियाओं पर हमलों में बढ़ोतरी देखी गई है। जुलाई में शिया-हजारा समुदाय पर हुए एक हमले में 80 लोगों की मौत हो गई थी।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

अफगानिस्‍तान की राजधानी काबुल की सबसे बड़ी शिया मस्जिद पर मोहर्रम से ठीक एक दिन पहले आतंकी हमला हुआ है। कुछ बंदूकधारियों ने मंगलवार शाम को दरगाह पर हमला कर दिया। शुरु में खबर थी की सेना की ड्रेस पहने कम से कम तीन बंदूकधारी मस्जिद में घुसे हैं और उन्होंन लोगों को बंधक भी बना रखा है। बाद में अधिकारियों ने बताया कि एक ही बंदूकधारी था, जिसे मार गिराया गया। अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि इस हमले में 14 लोग मारे गए हैं और 26 अन्य घायल हुए हैं। कहा जा रहा है कि मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है. यह हमला स्थानीय समय के अनुसार रात 8 बजे से कुछ ही देर पहले शुरू हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि एक जोरदार धमाका हुआ और उसके बाद गोलीबारी की आवाज सुनाई दी। काबुल पुलिस प्रमुख अब्दुल रहमान राहिमी ने बताया कि दरगाह को खाली करा दिया गया है। सरकार के प्रवक्ता सादिक सिद्दीकी ने बताया कि पुलिस ने मोर्चा संभालते हुए मस्जिद के घेरेबंदी की। उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने हमला करनेवाले तीनों बंदूकधारियों को मार गिराया है। ये काबुल की सबसे बड़ी शिया मस्जिद है। बुधवार को मोहर्रम है और एक रात पहले इस तरह की घटना से लोग सकते में हैं।

अफगानिस्तान में पिछले दिनों में शियाओं पर हमलों में बढ़ोतरी देखी गई है। जुलाई में शिया-हजारा समुदाय पर हुए एक हमले में 80 लोगों की मौत हो गई थी। काबुल यूनीवर्सिटी के पास स्थित मस्जिद के भीतर फंसे लोगों को विशेष सुरक्षा बल के जवानों ने बाहर निकाला। मरने वालों में 13 नागरिक और एक पुलिस कर्मी शामिल हैं। सिद्दीकी ने बताया कि इस हमले में तीन पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। काबुल शहर के पुलिस प्रमुख अब्दुल रहमान रहीमी ने जानकारी दी कि हमलावर मस्जिद के भीतर मौजूद लोगों को निशाना बनाया। फिलहाल इस हमले की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है। राष्ट्रपति अशरफ घनी ने हमले की निंदा करते हुए कहा कि मानवता के खिलाफ क्रूरता भरा कदम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 12, 2016 6:29 am

सबरंग