ताज़ा खबर
 

तालिबानी आतंकियों ने जेल का दरवाजा तोड़ सुरक्षाकर्मियों का सीना किया छल्ली, छुड़ाए 400 कैदी

दुनिया भर के आतंकियों की ताकत कम होने की बजाए लगातार बढ़ती ही जा रही है। जहां एक ओर दुनिया के कोने-कोने में ISIS के आतंकी संगठन और अलकायदा का खौफ बढ़ता जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर अब खबर आ रही है...
तालिबानी आतंकियों ने तोड़ा जेल का दरवाजा और छुटाए 400 कैदी, मारे गए जेलर और सुरक्षाकर्मी (PIC-REUTERS)

दुनिया भर के आतंकियों की ताकत कम होने की बजाए लगातार बढ़ती ही जा रही है। जहां एक ओर दुनिया के कोने-कोने में ISIS के आतंकी संगठन और अलकायदा का खौफ बढ़ता जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर अब खबर आ रही है कि तालिबान आतंकियों ने अफगानिस्तान के गजनी में एक जेल पर हमला करके 400 से ज्यादा कैदियों को छुड़वा लिया है।

सुसाइड बॉम्बर्स और बंदूकधारियों के इस हमले में चार सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई। तालिबान का दावा है कि उसने आत्‍मघाती हमले में 40 सुरक्षाकर्मियों को मारा है। ऐसे में अपनी शेखी बघारने वाले आतंकियों की ताकत अब और दुगनी हो गई लिहाजा जेल में कैद उनके साथी भी छूट गए हैं।

Also Read: ISIS पर अमेरिका का वार, 25 हवाई हमलों से नष्ट किए खौफनाक आतंकियों के ठिकाने: 

आतंकी संगठन ने दावा किया है कि छुड़वाए गए कैदियों में 150 तालिबानी भी शामिल हैं। आपको बता दें रविवार-सोमवार की रात 12 बजे यह हमला किया गया। एक सिक्युरिटी अफसर ने बताया कि हमलावरों ने अफगान सैनिकों की यूनिफॉर्म पहनी हुई थी।

गजनी के गवर्नर ऑफिस में तैनात अफसर मोहम्मद अली अहमदी ने बताया कि घटनास्थल पर दो संदिग्ध सुसाइड बॉम्बर्स के शव मिले हैं। उन्होंने कार में बैठकर जेल के मुख्य दरवाजे को विस्फोट से उड़ाया था। उन्होंने बताया कि चार सुरक्षाकर्मियों के अलावा सात तालिबानी आतंकी मारे गए हैं।

तालिबान प्रवक्ता के मुताबिक बंदूकधारी और तीन सुसाइड बॉम्बर्स ने रात 2 बजे जेल पर हमला किया और 400 कैदियों को छुड़वा लिया। प्रवक्ता ने बताया कि तीनों सुसाइड बॉम्बर्स मारे गए। उसने बताया, “हमारे लड़ाकों ने 40 अफगान सिक्युरिटी और जेल गार्ड्स मार गिराए और मुजाहिद्दीनों को छुड़वा लिया।

गौरतलब है कि 2011 में भी कंधार शहर की जेल से करीब 500 कैदी भाग गए थे, जिनमें से ज्यादातर तालिबानी आतंकी थे। आतंकियों ने जेल के बाहर कई मीटर लंबी सुरंग खोदकर कैदियों को छुड़वाया लिया था। और अब उसी तरह से फिर से आतंकी जेल की सलाखों से फरार हो गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.