ताज़ा खबर
 

ताकि सीरियाई सशस्त्र बल की हवाई सुरक्षा प्रणाली को ज्यादा प्रभावी बनाया जा सके

रूस की सेना ने आज कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा सीरिया के हवाई अड्डों पर अमेरिकी हमले के आदेश के बाद वहां की हवाई सुरक्षा को मजबूत किया जाएगा।
Author मॉस्को | April 7, 2017 23:27 pm
रूस की सेना ने आज कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा सीरिया के हवाई अड्डों पर अमेरिकी हमले के आदेश के बाद वहां की हवाई सुरक्षा को मजबूत किया जाएगा।

रूस की सेना ने आज कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा सीरिया के हवाई अड्डों पर अमेरिकी हमले के आदेश के बाद वहां की हवाई सुरक्षा को मजबूत किया जाएगा।
प्रवक्ता इगोर कोनाशेनकोव ने कहा, ‘सीरिया के सबसे संवेदनशील ढांचे की रक्षा के लिए निकट भविष्य में कई कदम उठाए जाएंगे ताकि सीरियाई सशस्त्र बल की हवाई सुरक्षा प्रणाली को ज्यादा प्रभावी बनाया जा सके।’ उन्होंने कहा कि हमले का ‘‘काफी कम’’ प्रभाव पड़ा और अमेरिका की तरफ से कथित तौर पर दागे गए 59 मिसाइलों में से आधे से कुछ ज्यादा ही अपने लक्ष्य तक पहुंचे। उन्होंने कहा, ‘‘सीरिया के हवाई अड्डे तक केवल 23 मिसाइल पहुंचे।’ उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के आदेश पर शयरात हवाई अड्डे पर हुए हमले में मरम्मत चल रहे छह विमान और कई भवन नष्ट हो गए। नष्ट हुई संपत्तियों में एक भंडार डिपो और रेडियो स्टेशन भी है। इगोर ने बताया, ‘‘रनवे, टैक्सी वे और सीरिया की वायुसेना के विमान क्षतिग्रस्त नहीं हुए हैं।’ उन्होंने कहा, ‘‘सीरिया के हवाई अड्डे पर अमेरिकी मिसाइल हमले का प्रभाव काफी कम है।’

सीरिया ने अमेरिका द्वारा की गई सैन्य कार्रवाई को ‘अमेरिकी आक्रामकता’ करार देते हुए इसकी निंदा की है। अमेरिका ने सीरिया में रासायनिक हमले पर कड़ा रुख अपनाते हुए सीरियाई सैन्यअड्डों पर मिसाइलें दागी हैं, जिससे बड़े पैमाने पर क्षति हुई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने सूत्र के हवाले से बताया कि सीरिया के होम्स प्रांत में गुरुवार रात को शेरात सैन्यअड्डे को निशाना बनाकर सैन्य हमले किए गए। सीरिया के सरकारी टीवी ने इन हमलों को ‘अमेरिकी आक्रामकता’ बताया। सीएनएन के मुताबिक, अमेरिका ने सीरियाई सैन्यअड्डों पर 59 टॉमहॉक क्रूज मिसाइलें दागीं। ये हमले उसी स्थान पर किए गए, जहां से रासायनिक हमले किए गए थे। सूत्र के मुताबिक, इस कार्रवाई से हुई क्षति के बारे में अब तक पता नहीं चल पाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.