ताज़ा खबर
 

स्वीडन: स्टॉकहोम में भारतीय दूतावास के पास एक शख्स ने घुसेड़ दिया ट्रक, 3 की मौत, पीएम ने आतंकी हमला बताया

घटनास्थल भारतीय दूतावास से कुछ ही मीटर दूरी पर है।
हमले में किसी भारतीय के हताहत होने की खबर नहीं है। (Source-ANI)

स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में एक डिपार्टमेंटल स्टोर में एक शख्स ने ट्रक घुसेड़ दिया, इस घटना में 3 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग घायल हो गये हैं। अंतर्राष्ट्रीय समाचार एजेंसियों के मुताबिक स्टॉकहोम के व्यस्त्तम इलाके ड्रोट्टिंगट्न में एक शख्स ने इस घटना को अंजाम दिया। ये वाकया दुर्घटना है या आतंकी हमला इस बात की पुष्टि अबतक नहीं हो पाई है। हालांकि स्वीडन के पीएम ने स्टीफन लोफवेन ने कहा कि घटनास्थल से मिले सारे सबूत आतंकी हमले की ओर इशारा करते हैं।  घटनास्थल भारतीय दूतावास से कुछ ही मीटर दूरी पर है। लेकिन अबतक इस हमले में किसी भारतीय के हताहत होने की खबर नहीं है।

पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर दी है और घटनास्थल से सबूतों की तलाश कर रही है। इस मामले में अबतक एक शख्स को गिरफ़्तार भी किया गया है। स्वीडन पुलिस के मुताबिक ट्रक के नंबर से मालिक को ढूंढ़ने की कोशिश की जा रही है। ये हादसा स्टॉकहोम के सेंट्रल सबवे स्टेशन के ठीक ऊपर बने एहलेंस डिपार्टमेंटल स्टोर में हुआ है। हादसे के बाद डिपार्टमेंटल स्टोर के पास भगदड़ मच गयी और लोग बदहवास भागने लगे। चश्मदीदों ने बताया कि हादसे के बाद डिपार्टमेंटल स्टोर से धुएं का गुबार निकलता देखा गया। घटनास्थल पर पुलिस हेलिकॉप्टर से निगरानी की जा रही है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हमले की निंदा की है। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, ”हम स्‍टॉकहोम हमले की निंदा करते हैं। मारे गए और घायल लोगों के परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।” स्‍वीडिश मीडिया के अनुसार हादसे वाली जगह पर गोलियों की आवाज भी सुनी गर्इ हालांकि यह साफ नहीं हो पाया कि गोलियां किसने चलाईं। पुलिस ने भी इसकी पुष्टि नहीं की है।

यह घटना दिसंबर 2010 में हुए हमले के करीब वाली जगह पर ही हुई है। उस समय तैमूर अब्‍दुलवहाब नाम के एक शख्‍स ने खुद को बम से उड़ा लिया था। वहीं पिछले साल दिसंबर में जर्मनी की राजधानी बर्लिन में क्रिसमस मार्केट में एक आतंकी ट्रक को भीड़ में ले गया था। इसमें 12 लोगों की जान गई थी।

देखिए संबंधित वीडियो

सीरिया में हुआ केमिकल हमला; 100 से ज्यादा लोगों की मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.