ताज़ा खबर
 

UN में सुषमा ने बोला पाक पर हमला: भारत ने डॉक्टर-वैज्ञानिक पैदा किए तो पाकिस्तान ने केवल दशहतगर्द

Sushma Swaraj UN Assembly, Speech: संयुक्त राष्ट्र महासभा में सुषमा (65) का यह लगातार दूसरा संबोधन है।
संयुक्त राष्ट्र महासभा को सुषमा स्वराज ने लगातार दूसरी बार संबोधित किया। (फोटो-ANI)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया। सुषमा स्वराज हिन्दी में संयुक्त राष्ट्र को संबोधित कर रही हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में आतंकवाद आग की तरह फैल रही है। सुषमा ने कहा कि दुनिया में इस वक्त बड़ी आबादी अलग-अलग वजहों से पलायन कर रही है। गरीबी से निपटने के लिए भारत सरकार के उठाये गये कदमों का जिक्र करते हुए सुषमा स्वराज ने जनधन योजना, मुद्रा योजना और उज्ज्वला योजना की चर्चा की। सुषमा स्वराज ने कहा कि भारत ने 30 करोड़ लोगों के जीरो बैलेंस पर खाते खोले। ये आबादी अमेरिका की आबादी के बराबर है। सुषमा स्वराज ने गरीबी उन्मूलन के लिए भारत की कोशिशों का जिक्र करते हुए मुद्रा योजना का हवाला दिया। सुषमा ने कहा कि इस योजना के तहत पूंजी की कमी झेल रहे युवाओं को रोजगार के लिए सरकार मदद देती है। सुषमा ने उज्ज्वला योजना का जिक्र कर कहा कि इस योजना के जरिये महिलाओं को मुफ्त में रसोई गैस का कनेक्शन दिया जाता है।

सुषमा ने आगे कहा कि सभापति महोदय हमलोग तो गरीबी से लड़ रहे हैं लेकिन हमारा एक पड़ोसी है जो हमसे लड़ रहा है। सुषमा ने पाकिस्तान को जमकर लताड़ लगाई। उन्होंने कहा कि इसी मंच पर पाकिस्तान के पीएम जनाब अब्बासी ने भारत पर मानवाधिकार उल्लंघन के आरोप लगाये। सुषमा ने कहा कि वैसा देश हमें मानवाधिकार पर लेक्चर दे रहा है जो सालों तक आतंकवादियों को पनाह देता रहा है। सुषमा ने कहा कि हैवानियत की हदें पार करने वाला देश में भाषण ना सुनाएं। सुषमा ने कहा कि भारत ने आजादी के बाद IIT, IIM, AIIMS, ISRO जैसे अंतर्राष्ट्रीय संस्थान बनाए। जबकि पाकिस्तान ने लश्कर ए तैयबा, जैश ए मोहम्मद जैसे आतंकी संगठन बनाए। सुषमा स्वराज ने कहा कि आज पाकिस्तान के हुक्मरानों को मिलकर ये सोचने की जरूरत है कि दोनों देश एक साथ बनें लेकिन भारत को लोग आईटी हब के रुप में जानते हैं कि जबकि पाकिस्तान दुनिया में आतंक का पनाहगाह माना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग