December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

दक्षिण चीन सागर में आॅस्ट्रेलिया-इंडोनेशिया एक साथ गश्ती पर कर रहे विचार, भड़क सकता है चीन

बीजिंग ने संसाधनों से भरपूर लगभग पूरे दक्षिण चीन सागर पर अपने अधिकार की घोषणा की है जबकि दक्षिणपूर्व एशियाई पड़ोसियों ने भी इस विवादित सागर के हिस्सों पर दावा किया है।

Author सिडनी। | November 1, 2016 17:03 pm
विवादित दक्षिण चीन सागर (एससीएस) से गुजरता चीनी तटरक्षक बल का जहाज। (REUTERS/Nguyen Minh/File Photo)

ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री जूली बिशप ने मंगलवार (1 नवंबर) को कहा कि उनका देश विवादित दक्षिण चीन सागर में इंडोनेशिया के साथ मिलकर संयुक्त गश्त करने पर विचार कर रहा है। इस कदम से बीजिंग नाराज हो सकता है। पिछले हफ्ते बिशप और रक्षा मंत्री मराइज पायने तथा इंडोनेशिया के रक्षा मंत्री आर रीयाकूडू सहित अन्य अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान जकार्ता ने दौरान ऐसी संभावना जताई। बिशप ने ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन से कहा कि हमने समुद्री सहयोग को बढ़ाने के लिए विकल्प तलाशने पर सहमति जताई है और उसमें दक्षिण चीन सागर में और सुलू सागर में समन्वित गतिविधियां शामिल हैं। उन्होंने कहा कि यह हमारे नौवहन की स्वतंत्रता के अधिकार का इस्तेमाल करने की नीति के अनुरूप तथा अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक है।

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड ने रीयाकूडू के हवाले से कहा कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के साथ ‘शांति गश्त’ का प्रस्ताव रखा है। उन्होंने कहा कि (चीन के साथ) रिश्तों को खराब करने की कोई मंशा नहीं है। इसे शांति गश्त कहा गया है और यह शांति के लिए है। यह एक दूसरे के इलाके में मछलियों की रक्षा करने के बारे में है। बीजिंग ने संसाधनों से भरपूर लगभग पूरे दक्षिण चीन सागर पर अपने अधिकार की घोषणा की है जबकि दक्षिणपूर्व एशियाई पड़ोसियों ने भी इस विवादित सागर के हिस्सों पर दावा किया है। खासतौर पर फिलिपीन तोइस मामले को हेग स्थित स्थायी मध्यस्थता अदालत ले गया। अदालत ने जुलाई में व्यवस्था दी कि चीन के दावे का कोई कानूनी आधार नहीं है। बीजिंग ने हालांकि इस व्यवस्था को खारिज कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 1, 2016 5:03 pm

सबरंग