ताज़ा खबर
 

अमेरिका: संदिग्ध आतंकवादी पकड़ने में मदद करने वाला सिख बना नायक

इस हमले में 29 लोग घायल हो गए थे।
Author न्यूयार्क | September 21, 2016 04:53 am
न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वॉयर में तेनात सुरक्षाकर्मी। (रॉयटर्स फोटो)

न्यूयार्क एवं न्यूजर्सी में सप्ताहांत में हुए बम विस्फोटों के मामले में वांछित अफगान मूल के सशस्त्र एवं खतरनाक अमेरिकी को पकड़ने में मदद करने के कारण अमेरिका में एक सिख व्यक्ति लोगों का नायक बन गया है। इस हमले में 29 लोग घायल हो गए थे।  हरिंदर बैंस लिंडन स्थित एक बार के मालिक हैं। उन्हें सोमवार 28 वर्षीय अहमद खान राहामी बार के दरवाजे पर सोता हुआ दिखा। बैंस ने बताया कि वह अपने लैपटॉप पर टीवी समाचार देख रहे थे। बैंस को पहले लगा कि कोई शराबी व्यक्ति दरवाजे पर आराम कर रहा है लेकिन बाद में उन्होंने अहमद खान को पहचान लिया और पुलिस को बुलाया। उन्होंने कहा, ह्यमैं केवल एक आम नागरिक हूंं। मैंने वही किया जो हर नागरिक को करना चाहिए। असली नायक पुलिसकर्मी हैं, असली नायक कानून प्रवर्तन है।

अधिकारी जब अहमद खान को पकड़ने आए तो उसने बंदूक निकाल ली और गोलियां चलानी शुरू कर दीं। एक गोली एक अधिकारी के सीने में लगी। इसके बाद पुलिस ने उसका पीछा किया। इसी दौरान अहमद खान ने पुलिस की एक कार पर गोलियां चलाईं जिसके कारण एक गोली एक अन्य अधिकारी के चेहरे को छूकर निकल गई। जवाबी कार्रवाई में अहमद खान को कई गोलियां लगीं जिसके बाद उसे पकड़ लिया गया।एक कानून प्रवर्तन अधिकारी ने बताया कि अहमद खान को आॅपरेशन के लिए अस्पताल ले जाया गया। शुरुआत में अहमद खान ने उससे पूछताछ कर रही पुलिस के साथ सहयोग नहीं किया।

भारतीय अमेरिकी अटॉर्नी रवि बत्रा ने कहा कि बैंस ने विदेशी एवं घरेलू शत्रुओं से संविधान की रक्षा एवं सुरक्षा करने की नागरिकता की शपथ का पालन करने की हिम्मत दिखाई और इसका नतीजा यह हुआ कि चेल्सी में प्रेशर कुकर बम विस्फोट करने वाले विदेशी मूल के अमेरिकी संदिग्ध को एक अन्य प्रवासी ने पकड़ लिया जो एक भारतीय-अमेरिकी नायक-सिख है। ह्यनेशनल सिख कैंपेनह्ण ने एक बयान में कहा कि यह बैंस का बहादुरी एवं साहस भरा कदम है। उसने कहा, ह्यएक सिख ने सप्ताहांत में न्यूयार्क एवं न्यूजर्सी में हुए बम विस्फोटों में शामिल आतंकवादी को पकड़ने में पुलिस की मदद की। नेशनल सिख कैंपेन ने कहा, ह्यउन्होंने वीरता दिखाते हुए कई निर्दोष लोगों की जान की रक्षा करने में मदद की और कानून प्रवर्तन अधिकारियों को इसका श्रेय दिया। हरिंदर बैंस ने निश्चित ही वह किया जो अमेरिका में हर नागरिक को करना चाहिए। बहादुरी एवं साहस भरा कदम।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.