December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

चीनी अखबार ने लिखा- नरेन्द्र मोदी के नोट बैन करने से भारत में नहीं खत्म होगा करप्शन

सोमवार को चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स में एक रिपोर्ट छपी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अचानक और चौंकाने वाला कदम उठाया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500, 1000 रुपए के नोट बंद करने के ऐलान के बाद देशभर में अफरातफरी का माहौल है। (Source: Twitter)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बड़े नोट बैन के एलान को चीनी मीडिया ने एक साहसिक और निर्णायक कदम करार दिया है लेकिन साथ ही कहा है कि 500 और 1000 के नोट को खत्म करने से भारत भ्रष्टाचार मुक्त नहीं हो सकता है। सोमवार को चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स में एक रिपोर्ट छपी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अचानक और चौंकाने वाला कदम उठाया है। इस कदम से भारत में तबाही आने जैसे हालात पैदा हो गए हैं। लाखों लोग सड़कों पर कतार में खड़े हैं ताकि वो अपने पुराने नोटों को बदलकर नए करेंसी नोट बैंकों से ले सकें।

चीनी अखबार के मुताबिक, “भारत में भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने और काला धन के खात्मे की दिशा में बड़े नोटों को प्रचलन से बाहर कर नरेन्द्र मोदी सरकार ने बड़ा साहसिक और निर्णायक कदम उठाया है।” अखबार में छपी लेख के लेखक अई जिन ने कहा, “नरेन्द्र मोदी ने जो निर्णय लिया है, वह वहां की वास्तविकता को दर्शाती है कि अधिकांश गैर कानूनी काम के लिए नकद में लेन-देन होता है और इसमें अधिकांशत: 500 और 1000 जैसे बड़े नोटों का इस्तेमाल होता है। यह भारत के कैश सर्कुलेशन का करीब 80 फीसदी है। नोट बैन कर मोदी सरकार ने करप्शन की जड़ पर हमला बोला है।”

कालेधन के खिलाफ भारत सरकार के 500 और 1,000 रुपए के बड़े नोटों को चलन से वापस लेने के फैसले का यूरोपीय संघ ने भी स्वागत किया है। यूरोपीय संघ ने कहा है, कि वित्तीय प्रणाली को कालेधन से मुक्त करने और इसमें पारदर्शिता लाने से भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी और आर्थिक वृद्धि की रफ्तार तेज होगी। यूरोपीय आयोग के उपाध्यक्ष जिर्की कटाईनेन ने वित्तीय प्रणाली को साफ सुथरा बनाने के भारत सरकार के प्रयासों की सराहना की है। इसके अलावा वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली लागू करने और कई अन्य सुधार उपायों को तेज करने के लिए भारत सरकार की सराहना की है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार (8 नवंबर) को घोषणा की थी कि 500 और 1000 के नोट 8 नवंबर की रात से प्रचलन से बाहर हो गए हैं। और उसकी जगह 500 और 2000 के नए नोट जारी किए जाएंगे। 9 नवंबर को देशभर के सभी बैंकों और एटीएम को बंद रखा गया था। उसके बाद 10 नवंबर से बैंकों में पुराने 500 और 1000 के नोट बदले जा रहे हैं। इससे देशभर के लोगों को परेशानी हो रही है। लोग लंबी-लंबी कतारों में खड़े होकर पुराने नोट बदलवा रहे हैं।

वीडियो देखिए: नोटबंदी के मुद्दे पर पीएम मोदी ने देर रात बुलाई बैठक; 24 नवंबर तक चलेंगे 500-1000 रुपए के पुराने नोट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 14, 2016 1:03 pm

सबरंग