ताज़ा खबर
 

चीन को RSS नेता की सलाह- हिंसक देश का रूप छोड़ अहिंसा का रास्ता अपनाओ

भारत ने पहली बार नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में चीन की साम्राज्यवादी एवं विस्तारवादी नीति का ठीक उत्तर दिया है।
Author August 13, 2017 16:31 pm
इंद्रेश कुमार ने कहा कि हम भारतीय चीन को शत्रु नहीं बल्कि एक साम्राज्यवादी और हिंसक देश के रूप में देखते हैं। (PTI)

सिक्किम के करीब डोकलाम क्षेत्र में भारत और चीन की तनातनी के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी इंद्रेश कुमार ने कहा कि हम भारतीय चीन को शत्रु नहीं बल्कि एक साम्राज्यवादी और हिंसक देश के रूप में देखते हैं और उससे उम्मीद करते हैं कि वह अपना साम्राज्यवादी चरित्र छोड़कर विश्व शांति और अहिंसा का रास्ता अपनाए। इंद्रेश कुमार ने पीटीआई से बातचीत में कहा, ‘‘चीन और भारत के रिश्ते कभी भी सुखद नहीं रहे। चीन ने कभी भी अपने साम्राज्य के विस्तार की नीति को नहीं रोका। भारत ने पहली बार नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में चीन की साम्राज्यवादी एवं विस्तारवादी नीति का ठीक उत्तर दिया है।’’

उन्होंने कहा कि चीन की डोकलाम में आकर बैठने की कोशिश एक तरह से भूटान पर कब्जा करने का षड्यंत्र है। कैलाश मानसरोवर को हड़पने के बाद चीन अब नेपाल और भूटान के माध्यम से देश में प्रवेश करने की कोशिश में है। तिब्बत पर कब्जा करके उसने बता दिया कि शांति उसका रास्ता नहीं है बल्कि हिंसा ही उसका मार्ग है। आरएसएस प्रचारक ने कहा कि हिमालय के सभी जल स्रोतों पर कब्जा करके हिमालयी देशों को चीन गुलाम बनाने की साजिश कर रहा है।

कुमार ने कहा कि भारत ने चीन की धमकियों के आगे नहीं झुककर चीन के विस्तारवादी और साम्राज्यवादी षड्यंत्र को कूटनीतिक रूप से पराजित करने का काम किया है। दूसरी ओर भारत के लोगों ने देश के विभिन्न हिस्सों में चीनी माल का बहिष्कार करके चीन की आर्थिक कमर तोड़ने का काम किया है।

इंद्रेश कुमार ने कहा कि हम भारतीय चीन को शत्रु नहीं बल्कि एक साम्राज्यवादी और हिंसक देश के रूप में देखते हैं और उससे उम्मीद करते हैं कि वह अपना साम्राज्यवादी चरित्र छोड़कर विश्व शांति और अहिंसा का रास्ता अपनाए। उन्होंने कहा कि चीन ने जिन देशों की भूमि पर कब्जा किया है, उन देशों की भूमि को उसे लौटा देना चाहिए और हिंसा की कार्रवाई को बंद करना चाहिए। यह चीन के साथ एशिया और सम्पूर्ण दुनिया की भलाई में होगा।

देखिए वीडियो - चीनी मीडिया ने कहा डोकलाम विवाद के पीछे Nsa डोभाल का हाथ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.