December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

रिपब्लिकन हिंदू संगठन ने हिलैरी क्लिंटन को कहा पाकिस्तान परस्त, नजदीकी सहयोगी को बताया आतंकवादियों का समर्थक

अमेरिका में जन्मीं हुमा अबेदीन की मां पाकिस्तानी थीं और उनके पिता भारतीय। हुमा जब दो साल की थीं तब उनके माता-पिता सऊदी अरब चले गए थे।

अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार थीं हिलेरी क्लिंटन। (REUTERS/Aaron P. Bernstein)

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में आरोपों-प्रत्यारोपों की सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। रिपब्लिकन पार्टी के समर्थक अमेरिकी हिंदू संगठन ने हिलैरी क्लिंटन पर “पाकिस्तान परस्त” होने का आरोप लगाया है। इस संगठन ने हिलैरी की निकट सहयोगी हुमा अबेदीन के पाकिस्तानी मूल पर भी सवाल उठाया है। आठ नवंबर को अगले अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव के लिए मतदान होगा। चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलैरी क्लिंटन के बीच सीधा मुकाबला है। रिपब्लिकन हिंदू कोअलिशन (आरएचसी) ने हिलैरी विरोधी एक विज्ञापन में कहा है, “हिलैरी पाकिस्तान के संग सहानुभूति रखती हैं, उसे अरबों डॉलर की  सहायता और सैन्य सामान देती हैं जो वो भारत के खिलाफ इस्तेमाल करता है। उन्होंने पीएम मोदी को वीजा न दिए जाने में अहम भूमिका निभाई थी। वो कट्टरपंथी इस्लाम के समर्थक देशों और व्यक्तियों से चंदा लेती हैं।” विज्ञापन में हिलैरी के पति और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन पर भी निशाना साधा गया है।

वीडियो:  हिलैरी क्लिंटन ने कहा डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका का राष्ट्रपति बनने लायक नहीं हैं-

आरएचसी के विज्ञापन में कहा गया है, “हिलैरी की सहयोगी हुमा अबेदीन पाकिस्तानी मूल की हैं और अगर वो जीतती हैं तो वो उसे चीफ ऑफ स्टाफ बनाएंगी। उनके पति बिल क्लिंटन कश्मीर पाकिस्तान को देना चाहते हैं।” हुमा की मां पाकिस्तानी थीं और उनके पिता भारतीय थे। उनका जन्म 1976 में अमेरिका के मिशिगन में हुआ था। हुमा जब दो साल की थीं तब उनके पिता सैयद जैनुल अबेदीन और उनकी मां सालेह महमूद अबेदीन सऊदी अरब चले गए।

विज्ञापन में अमेरिकी नागरिकों से बेहतर भारत-अमेरिका संबंधों और महान अमेरिका के निर्माण के लिए ट्रंप को वोट देने की अपील की गई है। अमेरिका के मौजूदा राष्ट्रपति बराक ओबामा का कार्यकाल अगले साल जनवरी में समाप्त हो जाएगा। ओबामा ने भी हिलैरी क्लिंटन के लिए प्रचार करते हुए ट्रंप को अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के लिए अयोग्य बताया है।

आरएचसी के प्रमुख शलभ कुमार ने अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क पोस्ट से कहा, “हुमा आम तौर पर यथासंभव आतंकवादियों के समर्थन में रहती हैं…उनकी पृष्ठभूमि सचमुत संदिग्ध है। मैं इसकी कल्पना भी नहीं कर सकता। मुझे नहीं समझ आता कि हिलैरी क्लिंटन हुमा को अपने साथ क्यों जोड़े हुए हैं।” शलभ ने दावा किया कि फ्लोरीडा, उत्तरी कैरोलीना और ओहियो में आरएसए राष्ट्रपति उम्मीदवारों की जीत हार में अहम भूमिका निभा रहा है।

हालांकि हिलैरी क्लिंटन के समर्थक अमेरिकी-भारतीय अजय जैन भूटोरिया ने आरएसची की आलोचना करते हुए कहा, “ये विज्ञापन भ्रामक और झूठा है।” जैन ने कहा कि ट्रंप और आरएचएस जनता को गलत तथ्य बता रहे हैं। जैन ने ट्रंप पर भारतीय समुदाय का मजाक उड़ाने का आरोप लगाया। जैन ने कहा, “ट्रंप ने हिंदू और मुसलमान के बीच दरार पैदा कर दी है…उन्होंने अमेरिका में भारत और पाकिस्तान के बीच भेद करा दिया है। हम धर्म आधारित ऐसी राजनीति अपने मूल देशों में छोड़कर वापस आ गए थे।” जैन के अनुसार हिलैरी क्लिंटन और बिल क्लिंटन दोनों ही भारत के संग बेहतर रिश्तों के हामी रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 4:13 pm

सबरंग