ताज़ा खबर
 

उरी हमले में पाकिस्‍तान की भूमिका से नवाज शरीफ ने किया इनकार, कहा- हम जंग नहीं चाहते

शरीफ ने कहा कि वह शांति चाहते हैं और कश्‍मीर समेत बाकी मुद्दों को शांति से सुलझाना चाहते हैं।
21 सितंबर को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करने के बाद चश्मा हटाते पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ। (Photo- REUTERS/File)

पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उरी हमले में पाकिस्‍तान की संलिप्‍तता से इनकार किया है। बुधवार को पाकिस्‍तानी संसद में बोलते हुए शरीफ ने कहा कि वह शांति चाहते हैं और कश्‍मीर समेत बाकी मुद्दों को शांति से सुलझाना चाहते हैं। शरीफ ने कहा, ”उरी हमले के कुछ ही घंटों बाद बिना किसी जांच के भारत ने इसके लिए पाकिस्‍तान को जिम्‍मेदार ठ‍हरा दिया। हम जंग के खिलाफ हैं, हम शांति चाहते हैं और कश्‍मीर समेत सारे मुद्दों को शांतिपूर्ण तरीके से हल करना चाहते हैं।” शरीफ ने कहा कि उनकी सेना किसी भी चुनौती के लिए तैयार है और संकट की स्थिति में जरूरी कार्रवाई करेगी। उरी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को विश्‍वास दिलाया था कि ‘कायराना’ हमले के दोषि‍यों को बख्‍शा नहीं जाएगा। मोदी के वादे को पूरा करते हुए भारतीय सुरक्षा बलों ने एलओसी पारकर आतंकियों के लॉन्‍च पैड्स को ध्‍वस्‍त किया। 18 सितंबर को जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना मुख्यालय पर हुए हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे। जवाब में भारतीय सेना ने 28-29 सितंबर को पीओके में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया। इस सर्जिकल स्‍ट्राइक में पाकिस्‍तानी मिलिट्री द्वारा सुरक्षित सात आतंकी लॉन्‍च पैड्स पर हमला कर भारी मात्रा में नुकसान पहुंचाया गया था। इस ऑपरेशन को कम से कम एक सप्‍ताह पहले ही प्‍लान कर लिया गया था। कमांडोज ने पूरे ऑपरेशन को इतनी सफाई से अंजाम दिया कि कोई भी भारतीय जवान हताहत नहीं हुआ।

सर्जिकल स्‍ट्राइक पर इंडियन एक्‍सप्रेस का बड़ा खुलासा, देखें वीडियो: 

पाकिस्तान ने कराची और लाहौर में बने अपने एयरस्पेस को 8 अक्टूबर से दिन के 18 घंटे बंद रखने का फैसला किया है। यह फैसला 8 अक्टूबर से लेकर अगले 13 दिनों के लिए लिया गया है। माना जा रहा है कमर्शियल फ्लाइट के उस एरिया को पाकिस्तान युद्धाभ्यास के लिए इस्तेमाल कर सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 5, 2016 6:51 pm

  1. No Comments.