December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

पाकिस्तान की भारत को खुली चेतावनी, कहा- दबाव बनाने के लिए न किया जाए पानी का इस्तेमाल

पाकिस्तान ने सिंधु जल संधि पर विवाद का स्पष्ट जिक्र करते हुए चेतावनी दी है कि युद्ध या दबाव बनाने के माध्यम के रूप में पानी का इस्तेमाल नहीं किया जाए।

Author सयुंक्त राष्ट्र | November 23, 2016 13:47 pm

पाकिस्तान ने सिंधु जल संधि पर विवाद का स्पष्ट जिक्र करते हुए चेतावनी दी है कि युद्ध या दबाव बनाने के माध्यम के रूप में पानी का इस्तेमाल नहीं किया जाए। उसने इस बात पर जोर दिया कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को जल संबंधी मामलों को सुलझाने में सहयोग बनाए रखने की अनिच्छा के हर संकेत को लेकर सतर्क बनना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने जल, शांति एवं सुरक्षा पर एक खुली बहस के दौरान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपने संबोधन में कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय समुदाय को बहुपक्षीय एवं द्विपक्षीय स्तरों पर मानक ढांचों को विकसित करने और उनकी रक्षा करने की जिम्मेदारी निभानी चाहिए ताकि यह बात सुनिश्चित की जा सके कि सभी देश जल संबंधी मामलों को सहयोगात्मक तरीके से सुलझाने की इच्छा रखें।’

मलीहा ने कहा, ‘‘उसे (अंतरराष्ट्रीय समुदाय को) जलमार्गों पर द्विपक्षीय एवं क्षेत्रीय समझौतों को प्रोत्साहित करना चाहिए और उनके विकसित होने के बाद यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उन्हें एकतरफा या दबाव बनाने वाले कदम उठाकर कमजोर न बनाया जाए।’

उन्होंने भारत-पाकिस्तान सिंधु जल संधि को ऐसा माडल करार दिया जिसके जरिए इस बात को दर्शाया जा सकता है कि द्विपक्षीय समझौतों के जरिए क्या हासिल किया जा सकता है। विश्व बैंक इस संधि का गारंटर है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने पहले भी चेतावनी दी थी कि भारत द्वारा सिंधु जल संधि को एकपक्षीय तरीके से रद्द करने को ‘युद्ध की गतिविधि’ माना जाएगा। उजबेकिस्तान में इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी)के विदेश मंत्रियों की बैठक के 43वें सत्र में पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्व कर रहे फातेमी ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय का आह्वान किया कि भारत के इस दावे को खारिज किया जाए कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है।
भारत के दावे को ‘हास्यास्पद’ बताते हुए उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र जम्मू कश्मीर को दोनों संप्रभु राष्ट्रों के बीच अंतरराष्ट्रीय विवाद मानता है। फातेमी ने मुस्लिम समुदाय से आत्मनिर्णय के अधिकार की लड़ाई में कश्मीरियों को समर्थन जारी रखने का आह्वान किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 23, 2016 1:46 pm

सबरंग