ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान ने भारतीय राजदूत को किया तलब

पाकिस्तान ने भारतीय डिप्टी हाई कमिशनर जेपी सिंह को समन भेजा।
भारत-पाकिस्तान बॉर्डर की फाइल फोटो। (Source: File)

पाकिस्तान ने मंगलवार (25 अक्टूबर) को भारतीय डिप्टी हाई कमिशनर जेपी सिंह को समन भेजा। यह समन भारत द्वारा अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर किए जा रहे सीजफायर के विरोध में था। पाकिस्तानी न्यूज वेबसाइट, डॉन ने सोमवार को लिखा था कि इंडियन बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) द्वारा की गई फायरिंग में पाकिस्तान में एक शख्स की मौत हो गई थी और अन्य सात लोग जख्मी हो गए थे। खबर में पाकिस्तान के पंजाब रेंजर्स के हवाले से लिखा गया था कि भारत की तरफ से रात के वक्त सीजफायर तोड़ा गया था। उसमें बाजवत, छापर, हरपल, सिचेतगढ़ और चारवाह सेक्टर में गोलाबारी हुई थी। इसके अलावा पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकीरा ने भारत पर साल 2016 में 90 बार सीजफायर तोड़ने का आरोप लगाया। नफीज ने यह भी कहा कि पाकिस्तान ने कभी भी सीजफायर नहीं तोड़ा है। गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान के बीच में 2003 में संधि हुई थी। उसके मुताबिक, दोनों देशों ने बॉर्डर पर शांति बनाए रखने के लिए हमला ना करने का वादा किया था।

वीडियो: जम्मू-कश्मीर सरकार ने 12 अधिकारियों को किया बर्खास्त; राष्ट्र-विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का था आरोप

गौरतलब है कि इस वक्त भारत-पाकिस्तान के रिश्ते बड़े ही नाजुक मोड़ पर हैं। दोनों देशों के बीच संबंध जम्मू कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले की वजह से ज्यादा बिगड़ गए। उस हमले में 20 जवान शहीद हो गए थे। हमले का बदला लेने के लिए भारत ने भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया था। सेना ने बताया था कि उस हमले में आतंकी चौकियों को निशाना बनाया गया था। हालांकि, पाकिस्तान ने सर्जिकल स्ट्राइक की बात को ‘झूठा’ बताया था। हालांकि, इंडियन एक्सप्रेस द्वारा की गई पड़ताल में पीओके के कुछ ऐसे लोग मिले थे जिन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक होने की बात कबूली थी।

Read Also: पाकिस्तान: क्वेटा के पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकी हमला, 60 कैडेट्स की मौत, 3 हमलावर ढेर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग