ताज़ा खबर
 

नवाज शरीफ के पांच कोट्स: भारत में खेतों पर टैंक चलाकर दूर नहीं हो सकती गरीबी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सुरक्षा हालात पर चर्चा करने के लिए बुलाए गए संसद के संयुक्त सत्र में बुधवार को भाषण दिया था।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (AP File Photo)

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा कि ‘खेतों पर टैंक चलाकर’ गरीबी खत्म नहीं की जा सकती। इसके साथ ही उन्होंने एक बार फिर हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी को ‘कश्मीर का बहादुर बेटा’ कहकर भारत को ताना मारने का प्रयास किया। मोदी ने पिछले महीने एक भाषण में पाकिस्तान को गरीबी और अन्य सामाजिक बुराइयों को समाप्त करने की स्पर्धा की चुनौती दी थी। शरीफ ने भारत-पाक के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर सुरक्षा हालात पर चर्चा करने के लिए बुलाए गए संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। संयुक्त सत्र में इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी को छोड़कर सभी विपक्षी दलों ने भाग लिया। इमरान खान ने इसका बहिष्कार करते हुए कहा कि शरीफ देश की अगुवाई करने के लिहाज से सही नहीं हैं और यह सत्र केवल उनके नेतृत्व को समर्थन देगा।

नीचें पढ़ें नवाज शरीफ के पांच कोट्स-

1.
‘अगर वे चाहते हैं कि हम उनसे गरीबी को खत्म करने के लिए प्रतिस्पर्धा करें तो उन्हें समझ लेना चाहिए कि खेतों पर टैंक चलाकर गरीबी समाप्त नहीं की जा सकती। अगर वह (भारतीय नेता) चाहते हैं कि हमें गरीबी को पूरी तरह खत्म करने में उनका मुकाबला करना चाहिए, अगर वह चाहते हैं कि हम बेरोजगारी को खत्म करने के लिए प्रतिस्पर्धा करें अगर वह चाहते हैं कि जन कल्याण और समृद्धि मामले में हम उनसे प्रतिस्पर्द्धा करें तो यह सभी खूनखराबे के बीच संभव नहीं है। रोजगार के अवसरों तथा समृद्धि के फूल उन खेतों में खिलाना संभव नहीं है जहां बंदूकों के बीज बोए जाते हैं।’

वीडियो में देखें- आतंकियों ने हंदवाड़ा स्थित आर्मी कैंप पर हमला किया, 3 आतंकी ढेर

2.
संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए शरीफ ने आरोप लगाया कि भारत बातचीत से बच रहा है और उरी आतंकी हमले के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराकर युद्ध जैसा माहौल बना रहा है। शरीफ ने दावा किया, ‘हमने भारत को वार्ता की मेज पर लाने के लिए सबकुछ किया लेकिन भारत ने ऐसा नहीं होने दिया। हमारे प्रयासों को बार बार नाकाम किया गया। भारत ने बिना किसी जांच के, कुछ ही घंटों के भीतर हमले के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहरा दिया।’ गौरतलब है कि पिछले महीने उरी स्थित सैन्य मुख्यालय पर आतंकी हमले में 19 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।

Read Also: हंदवाड़ा: सेना ने मार गिराए तीन आतंकी, मुठभेड़ खत्म, ‘मेड इन पाकिस्तान’ मार्का वाली दवाइयां बरामद

3.
शरीफ ने कश्मीरियों के प्रति समर्थन जताते हुए कहा कि कश्मीर की जनता की आकांक्षाओं और संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के अनुरूप मुद्दे का हल निकलना चाहिए। उन्होंने कहा कि कश्मीर के नौजवानों ने भारत की ज्यादतियों के खिलाफ आजादी के आंदोलन को चलाने का बीड़ा उठाया है। शरीफ ने अपने भाषण में एक बार फिर बुरहान वानी का नाम लिया। उन्होंने कहा, ‘कश्मीर की मिट्टी के लाल बुरहान वानी की मौत ने भारत को याद दिलाया था कि वह कश्मीरियों को आत्मनिर्धारण का अधिकार दे।’

Read Also: सर्जिकल स्ट्राइक: पहली बार एलओसी के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताई आंखों देखी, तड़के ट्रकों में भर कर ले जाई गई थी लाशें

4.
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने भारत पर एलओसी पर संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन करने का और पाकिस्तान के खिलाफ हमले शुरू करने का भी आरोप लगाया। शरीफ ने कहा, ‘भारत के संघर्षविराम उल्लंघन के नतीजतन हमारे दो जवान मारे गए, जब भारत ने पाकिस्तान पर हमला किया था। इसका मुहंतोड़ जवाब दिया गया और संदेश दिया गया कि पाकिस्तानी फौज किसी भी हमले का जवाब देने में पूरी तरह सक्षम है। हम किसी भी धमकी को हल्के में नहीं लेते और उसका जवाब देने से एक बार भी नहीं हिचकिचाते। लेकिन पाकिस्तान चाहता है कि भारत के साथ मतभेदों का निपटारा बातचीत के जरिए हो।’

Read Also: एलओसी पार कर भारत में हमला करने को तैयार खड़े हैं 100 आतंकी, पीएम नरेंद्र मोदी को दी गई जानकारी

5.
संसद में अपने भाषण में शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अनुरोध किया कि कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों को लागू करने में भूमिका अदा करें। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान पर आरोप लगाकर भारत कश्मीर में अपनी दमनपूर्ण कार्रवाई से दुनिया का ध्यान हटाना चाहता है। शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान की फौज किसी भी हमले को नाकाम करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

Read Also: सर्जिकल स्‍ट्राइक को झुठलाने के लिए पाकिस्‍तानी सेना का नया हथकंडा, प्‍लेन में भरकर मीडियाकर्मियों को पहुंचाया एलओसी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 6, 2016 12:27 pm

  1. No Comments.
सबरंग