December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

‘भारत फिर पनडुब्बी भेजता है तो पाकिस्तान नौसेना अपनी सम्प्रभुता की रक्षा के लिए जवाब देगी’

पाकिस्तानी नौसेना ने पिछले सप्ताह दावा किया कि उनकी समुद्री सीमा के पास दिखी भारतीय पनडुब्बियों को पीछे धकेल दिया गया है।

Author कराची | November 24, 2016 18:47 pm
पाकिस्तान नौसेना प्रमुख मोहम्मद जकाउल्ला और साथ में प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ (दाएं)। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान नौसेना प्रमुख मोहम्मद जकाउल्ला ने भारतीय पनडुब्बियों द्वारा कथित रूप से पाकिस्तानी समुद्री सीमा में प्रवेश करने के प्रयासों को ‘असामान्य’ करार देते हुए गुरुवार (23 नवंबर) को चेतावनी दी कि फिर ये ऐसा प्रयास होने पर जवाब दिया जाएगा। नौवें अंतरराष्ट्रीय रक्षा प्रदर्शनी से इतर उन्होंने कहा, ‘यदि भारत फिर से ऐसा कुछ करता है तो, पाकिस्तान नौसेना अपनी सम्प्रभुता की रक्षा के लिए जवाब देगी।’ पाकिस्तानी नौसेना ने पिछले सप्ताह दावा किया कि उनकी समुद्री सीमा के पास दिखी भारतीय पनडुब्बियों को पीछे धकेल दिया गया है। हालांकि, भारत ने इन दावों को सिरे से खारिज करते हुए उन्हें ‘सफेद झूठ’ करार दिया। नौसेना ने कहा कि पाकिस्तानी नौसेना के दावों के विपरीत उनकी समुद्री सीमा में कोई गतिविधि नहीं हुई है।

इससे पहले पाकिस्तान के वायुसेना प्रमुख सोहेल अमान ने गुरुवार (24 नवंबर) को कहा कि भारत की ओर से किसी भी खतरे को लेकर पाकिस्तान बिलकुल भी चिंतित नहीं है और ‘युद्ध का अनुभव’ रखने वाली उसकी सेना आक्रामक जवाब देने में पूरी तरह सक्षम है। नौंवी अंतरराष्ट्रीय रक्षा प्रदर्शनी और परिसंवाद (आईडीयाज) में वायुसेना प्रमुख ने कहा, ‘भारत को लेकर हमें जरा भी चिंता नहीं है।’ उन्होंने कहा कि यह बेहतर होगा कि भारत संयम दिखाए और तनाव को बढ़ने से रोकने के लिए कश्मीर मसले को हल करे। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने उनके हवाले से कहा, ‘भारत को संयम दिखाना चाहिए और कश्मीर मुद्दे का हल निकालना चाहिए क्योंकि यही उनके लिए बेहतर होगा।’ अमान ने कहा कि पाकिस्तान युद्ध नहीं चाहता लेकिन इस तरह के दबाव को नजरअंदाज भी नहीं कर सकता। उन्होंने जोर देकर कहा, ‘किसी भी किस्म की आक्रामकता का समुचित जवाब देने में हम सक्षम हैं।’

वायुसेना प्रमुख की टिप्पणी पाकिस्तान के उस दावे के एक दिन बाद आई है जिसमें कहा गया था कि भारतीय बलों ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में एक यात्री बस को निशाना बनाया जिसमें कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई जबकि नौ अन्य घायल हो गए। पाकिस्तान द्वारा सीमापार किए गए हमले में तीन भारतीय जवानों की हत्या और उनमें से एक शहीद के शव को क्षत-विक्षत करने का बदला भारतीय सेना ने बुधवार (23 नवंबर) को नियंत्रण रेखा पर जवाबी कार्रवाई करके लिया था। हालांकि इस बीच पाकिस्तानी जवानों ने भी भारतीय चौकियों पर गोलीबारी की जिसमें छह जवान घायल हो गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 6:47 pm

सबरंग