ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान: इस्लाम के खिलाफ बोलने पर कट्टरपंथियों ने किया मुस्लिम छात्र का कत्ल, मौलवी ने भी अंतिम संस्कार से किया इनकार

मशाल खान के परिवार वालों का कहना है कि ईशनिंदा का आरोप निराधार है।
पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप में कट्टरपंथियों ने मशाल खान की हत्या कर दी। (Photo source-FACEBOOK)

पाकिस्तान के मरदान शहर में पत्रकारिता के छात्र मशाल खान की हत्या के बाद भी कट्टरपंथियों की नफरत कम नहीं हुई है। नयी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शुक्रवार को जब मशाल खान का अंतिम संस्कार किया जा रहा था मौलवी ने अंतिम क्रिया की रस्म करवाने से ही इनकार कर दिया। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मशाल खान के पैतृक शहर स्वाबी में स्थानीय मौलवी ने मरदान के अब्दुल वली खान यूनिवर्सिटी के छात्र का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया। बाद में एक टेकनीशियन ने मशाल खान का अंतिम संस्कार करवाया लेकिन उसे भी कई लोगों के सवाल का सामना करना पड़ा। पाकिस्तान के खैबर पख्तून खवा राज्य में हुई घटना की राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निंदा हुई है।

बता दें कि गुरुवार को मरदान शहर में एक गुस्सायी भीड़ ने ईश निंदा के कथित आरोप में मशाल खान की हत्या कर दी थी। इससे एक दिन पहले मशाल खान ने अपने कॉलेज के छात्रों के साथ इस्लाम पर जोरदार बहस की थी। इस्लाम पर मशाल खान के विचार जैसे ही सार्वजनिक हुए अगले दिन लोग उसके हॉस्टल के कमरे में पहुंच गये और उसे बाहर निकाला और पीट पीटकर हत्या कर दी। मशाल खान के परिवार वालों का कहना है कि ईशनिंदा का आरोप निराधार है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मशाल के पिता इकबाल शहर ने बताया कि पहले कट्टरपंथियों ने मेरे बेटे की हत्या कर दी और अब ईशनिंदा की बात कहकर मेरे जख्मों पर नमक छिड़क रहे हैं।

मशाल खान मरदान के अब्दुल वली खान विश्वविद्यालय का छात्र था।
(Photo source-Reuters)

यहां तक कि पुलिस और राज्य सरकार का भी कहना है कि मशाल खान ने ईशनिंदा नहीं की है। खैबर पख्तून खवा के सीएम परवेज खट्टक ने कहा है कि मशाल का मोबाइल पुलिस ने चेक किया है लेकिन उसमें इस्लाम के खिलाफ कोई भी सामग्री नहीं मिली है। सीएम परवेज खट्टक ने इस घटना के न्यायिक जांच के आदेश दे दिये हैं। वहीं प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि पूरे देश को मिलकर इस घटना की निंदा करनी चाहिए। शरीफ ने कहा कि जो लोग कानून हाथ में लेते हैं पाकिस्तान ऐसे लोगों को कभी बर्दाश्त नहीं करेगा।

विद्या बालन की 'बेगम जान' पाकिस्तान में नहीं होगी रिलीज!

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Kamlesh Kumar Mishra
    Apr 16, 2017 at 9:05 am
    ये है पाकिस्तान का मानवीय चेहरा .
    (0)(0)
    Reply