June 22, 2017

ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान: कराची में हुई दो ट्रेनों की टक्कर, 19 लोगों की मौत और 50 हुए घायल

लांढी क्षेत्र के गद्दाफी शहर में गुरुवार सुबह सात बजकर 18 मिनट पर हुई इस दुर्घटना में एक पैसेंजर ट्रेन एक खड़ी हुई ट्रेन से टकरा गई।

Author कराची | November 3, 2016 15:52 pm
शुरूआती जांच में पता चला है कि ट्रेन के चालक ने सिग्नल को नजरअंदाज कर दिया था। (Photo: Reuters)

गुरुवार सुबह पाकिस्तान के कराची में एक पैसेंजर ट्रेन एक खड़ी हुई ट्रेन से टकरा गई, जिससे कम से कम 19 लोगों की मौत हो गई और 50 अन्य घायल हो गए। लांढी क्षेत्र के गद्दाफी शहर में गुरुवार सुबह सात बजकर 18 मिनट पर हुई इस दुर्घटना में जकारिया एक्सप्रेस जुमा गोठ ट्रेन स्टेशन पर खड़ी फरीद एक्सप्रेस से टकरा गई। टक्कर के कारण फरीद एक्सप्रेस की दो और जकारिया एक्सप्रेस की एक बोगी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गर्इं। टीवी फुटेज में डिब्बे आपस में भिड़े हुए और पलटे हुए दिखाई दे रहे थे। फरीद एक्सप्रेस लाहौर से कराची आ रही थी जबकि जकारिया एक्सप्रेस मुल्तान से चली थी।

पाकिस्तानी चैनल जियो न्यूज के अनुसार, शुरूआती जांच में पता चला है कि जकारिया एक्सप्रेस के चालक ने सिग्नल को नजरअंदाज कर दिया था। रेल मंत्री ख्वाजा साद रफीक ने बताया कि दुर्घटना में कम से कम 19 लोगों की मौत हुई है। जिन्ना अस्पताल में आपातकालीन विभाग की प्रमुख डॉ सीमी जमाली ने कहा कि 50 घायलों को जिन्ना अस्पताल लाया गया। उन्होंने कहा, ‘घायलों में से कई लोगों को सिर में चोटें आई हैं और कुछ की हालत नाजुक है।’ इस दुर्घटना के कारण यातायात बाधित हो गया और घायलों को ला रही एंबुलेंसें सड़कों पर फंसी रहीं।

वीडियो: यमुना एक्सप्रेस वे पर धुंध के चलते भिड़ीं 20 गाड़ियां; कई लोग घायल

कराची से चलने वाली सभी ट्रेनें बचाव कार्य के पूरा होने तक निलंबित कर दी गई हैं। राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने दुर्घटना में हुई मौतों पर दुख जाहिर किया है। शरीफ ने दुर्घटना की तत्काल जांच के आदेश दिए और अधिकारियों को घायलों को चिकित्सीय सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। रेल मंत्री रफीक ने मृतकों को 10 लाख रुपए और घायलों को पांच लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है। सितंबर में, कराची जा रही एक पैसेंजर ट्रेन के पंजाब प्रांत के मुल्तान के पास खड़ी एक मालगाड़ी से टकरा जाने पर छह लोग मारे गए थे और 150 से ज्यादा घायल हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 3:51 pm

  1. P
    pankaj verma
    Nov 3, 2016 at 11:33 am
    दिल में जब दॄढ़ संकल्प रहेमंजिल का नही विकल्प रहेपर खुदना हटो निज मंजिल सेमंजिल बदले या ना बदले
    Reply
    सबरंग