ताज़ा खबर
 

हाफिज सईद को आतंकी बताकर घिरे पाकिस्‍तान के रक्षा मंत्री ख्‍वाजा आसिफ, नेताओं ने बताया- भारत का प्रवक्‍ता

आसिफ ने 20 फरवरी को कहा था कि 26/11 मुंबई आतंकी हमलों का मास्‍टरमाइंड सईद समाज के लिए गंभीर खतरा है।
पाकिस्‍तान के रक्षा मंत्री ख्‍वाजा आसिफ जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद को आतंकी बताकर अपने देश में निशाने पर आ गए हैं।

पाकिस्‍तान के रक्षा मंत्री ख्‍वाजा आसिफ जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद को आतंकी बताकर अपने देश में निशाने पर आ गए हैं। कई राजनेताओं और धार्मिक गुरुओं ने उन्‍हें भारत का प्रवक्‍ता करार दिया। साथ ही हाफिज सईद को देशभक्‍त बताया। गौरतलब है आसिफ ने 20 फरवरी को कहा था कि 26/11 मुंबई आतंकी हमलों का मास्‍टरमाइंड सईद समाज के लिए गंभीर खतरा है और उसे राष्‍ट्रहित में गिरफ्तार किया गया है। गौरतलब है कि 30 जनवरी को सईद को नजरबंद कर दिया गया था। साथ ही 18 फरवरी को उसे पाकिस्‍तान के आतंकवाद कानून के दायरे में भी शामिल किया गया था।

द न्‍यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्‍तान तहरीक ए इंसाफ के नेता महमुदूर रशीद ने कहा कि आसिफ के बयान से लगता है कि वे पाकिस्‍तान के नहीं बल्कि भारत के रक्षा मंत्री हैं। पाकिस्‍तान के भारत और अमेरिका को देखते हुए बचाव की नीति अपना ली है। पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर के पूर्व प्रधानमंत्री सरदार मुहम्‍मद अतीक ने कहा कि आसिफ जैसे सरकारी अधिकारी भारत को खुश करने के लिए मीडिया में बयान दे रहे हैं। जमात ए इस्‍लामी के नेता लियाकत बलूच ने कहा कि मंत्री अपनी जुबान पर लगाम लगाना भूल गए हैं। डिफेंस ऑफ पाकिस्‍तान काउंसिल के चेयरमैन मौलाना समीउल हक ने भी ऐसा ही बयान दिया और कहा कि आसिफ को कश्‍मीर में भारतीय सेना के अत्‍याचारों की बात करनी चाहिए थी।

इधर, हाफिज सईद के संगठन जमात उद दावा ने ख्‍वाजा आसिफ के बयान के विरोध में देशभर में प्रदर्शन करने का एलान किया है। संगठन की ओर से कहा गया है कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को रक्षा मंत्री के बयान पर कार्रवाई करनी चाहिए। वहीं भारत की ओर से कहा गया है कि हाफिज सईद और उसके संगठन पर असरदार कार्रवाई होनी चाहिए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा कि न्याय के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सईद, उसकी आतंकी संस्थाओ और साथियों पर असरदार कार्रवाई करने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    sach
    Feb 21, 2017 at 7:09 am
    नेता क्यों क्यों धर्म के नाम पर देश के नाम पर नफरत फैलाते हैं.... ! जनता और मानवता के दुश्मन ही केवल आतंकवादी होते हैं...आतंकवादियों के लिए धर्म सिर्फ हथियार होता है... पर आतंकवादियों का खुद का कोई धर्म नहीं होता....
    Reply
सबरंग