ताज़ा खबर
 

‘दखल’ को लेकर संराष्ट्र में भारत के खिलाफ कार्रवाई करेगा पाक!

भारत द्वारा कराची में अशांति पैदा करने के लिए मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट की सहायता करने संबंधी मीडिया रिपोर्टो के बाद पाकिस्तान इस कथित दखलंदाजी को लेकर भारत को संयुक्त राष्ट्र...
Author June 30, 2015 18:27 pm
(फाइल फ़ोटो – नवाज शरीफ)

भारत द्वारा कराची में अशांति पैदा करने के लिए मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट की सहायता करने संबंधी मीडिया रिपोर्टो के बाद पाकिस्तान इस कथित दखलंदाजी को लेकर भारत को संयुक्त राष्ट्र में घसीटने पर विचार कर रहा है।

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत डॉ. मलीहा लोधी कथित दखलंदाजी के लिए संयुक्त राष्ट्र में भारत के खिलाफ कार्रवाई पर विचार के लिए सरकार से विचार विमर्श की खातिर इस समय इस्लामाबाद में हैं। अधिकारियों ने आज यह जानकारी दी।

बीबीसी की हाल की एक रिपोर्ट में आरोप लगाया गया था कि भारत एमक्यूएम को धन मुहैया करा रहा है जिसका कराची में दबदबा है। इसके बाद यह मामला सामने आया था। भारत ने इसे ‘‘पूरी तरह बेबुनियाद’’ बताते हुए इससे इंकार किया है।

एमक्यूएम ने भी भारत से किसी प्रकार का धन मिलने से इंकार किया है और इसके संस्थापक तथा प्रमुख अल्ताफ हुसैन ने इस दावे को सिरे से खारिज किया है कि उनकी पार्टी का भारत की खुफिया एजेंसी रॉ से कोई संबंध है।

पाकिस्तान ने इस मामले की औपचारिक जांच शुरू की है और ब्रिटिश सरकार को भी बीबीसी रिपोर्ट का ब्यौरा मांगते हुए पत्र लिखा है। साथ ही पाकिस्तान ने ब्रिटिश सरकार से एमक्यूएम के दो नेताओं के उस बयान की भी प्रतियां मांगी हैं जिसमें उन्होंने लंदन में मेट्रोपोलिटन पुलिस को भारत से धन मिलने के बारे में बताया था।

अधिकारियों ने बताया कि यदि जांच के बाद बीबीसी की रिपोर्ट सही साबित होती है तो पाकिस्तान भारत के खिलाफ मजबूत सबूत एकत्र करेगा और उसकी इसके बारे में दुनिया को बताने की योजना है ।

सरकार इस मुद्दे पर लोधी से विचार विमर्श करेगी और राजदूत उन्हें संयुक्त राष्ट्र के मूड के बारे में जानकारी देंगी कि यदि पाकिस्तान भारत को दोषी ठहराने के प्रयास करता है तो क्या उसे अंतरराष्ट्रीय समर्थन मिलेगा? अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

पाकिस्तान टीवी चैनलों ने कल रिपोर्ट दी थी कि पाकिस्तान ने देश में अस्थिरता पैदा करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में भारत को घसीटने का फैसला किया है। लेकिन अधिकारियों ने बताया कि ऐसा कहना जल्दबाजी होगी क्योंकि काफी कुछ बीबीसी की रिपोर्ट की जांच पर निर्भर करता है।

सरकार लोधी के साथ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सितंबर में होने वाली यात्रा के संबंध में भी विचार विमर्श करेगी। शरीफ संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र को संबोधित करने के लिए संराष्ट्र जाएंगे।

शरीफ वर्ष 2015 के बाद के विकास एजेंडे पर शिखर बैठक में भाग लेंगे और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ शांति रक्षकों की शिखर बैठक की सह अध्यक्षता करेंगे। वह दक्षिण-दक्षिण सहयोग शिखर बैठक में भी भाग लेंगे जिसकी मेजबानी चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग