ताज़ा खबर
 

अब नेपाल बोला- सार्क सम्मेलन के अनुकूल नहीं है माहौल

नेपाल ने कहा कि उसका मानना है कि ‘सार्थक क्षेत्रीय सहयोग के लिए शांति और स्थिरता का वातावरण’ जरूरी है।
Author काठमांडू | October 2, 2016 20:29 pm
आठ देश सार्क के सदस्य हैं।

दक्षेस के मौजूदा अध्यक्ष नेपाल ने कहा है कि क्षेत्रीय माहौल अगला दक्षेस शिखर सम्मेलन आयोजित करने के लिए उपयुक्त नहीं है। साथ ही उसने आज कहा कि सदस्य देश इस बात को अवश्य सुनिश्चित करें कि उनके भूभाग का इस्तेमाल सीमा-पार आतंकवाद के लिए नहीं हो। शिखर सम्मेलन के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए उपयुक्त माहौल नहीं होने के लिए परोक्ष तौर पर पाकिस्तान पर दोषारोपण करते हुए भारत और चार अन्य देशों के 19 वें दक्षेस शिखर सम्मेलन से अपने हाथ खींच लेने के कुछ दिन बाद नेपाल ने कहा कि उसका मानना है कि ‘सार्थक क्षेत्रीय सहयोग के लिए शांति और स्थिरता का वातावरण’ जरूरी है।

योगी आदित्यानाथ ने किया सलमान खान का समर्थन, देखें वीडियो

नेपाल के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘नेपाल स्पष्ट शब्दों में सभी स्वरूप में आतंकवाद की निंदा करता है और आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में अपनी एकजुटता का इजहार किया।’ नेपाल ने कहा कि उसने क्षेत्र में आतंकवाद के सभी कृत्यों की हमेशा निंदा की है। नेपाल ने कहा, ‘हाल में उसने कश्मीर के उरी में भारतीय सेना के शिविर पर गत 18 सितंबर को हुए आतंकवादी हमले की निंदा की, जिसमें कई भारतीय सैनिकों की जान गई थी।’ साथ ही कहा कि क्षेत्र में शांति और स्थिरता हासिल करने के लिए ‘‘दक्षेस के सदस्य देशों को आपस में सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके भूभाग का इस्तेमाल सीमा पार आतंकवाद के लिए नहीं हो।’

Read Also:  पाकिस्‍तान ने टाला सार्क सम्‍मेलन, कहा- भारत ने समिट को पटरी से उतार दिया

बयान में कहा गया है, ‘नेपाल को खेद है कि क्षेत्रीय वातावरण अगला दक्षेस शिखर सम्मेलन आयोजित करने के लिए उपयुक्त नहीं है। यह शिखर सम्मेलन पहले 9-10 नवंबर के बीच इस्लामाबाद में होने वाला था। मेजबान पाकिस्तान ने बैठक स्थगित किए जाने के बारे में उसे सूचित कर दिया है।’ वह अगला शिखर सम्मेलन आयोजित करने के लिए जरूरी विचार-विमर्श शुरू करेगा। साथ ही में कहा गया है, ‘दक्षेस का मौजूदा अध्यक्ष होने के नाते नेपाल दक्षेस शिखर सम्मेलन के लिए उपयुक्त क्षेत्रीय वातावरण बनाने की आवश्यकता को रेखांकित करता है। नेपाल सभी सदस्य देशों की भागीदारी के साथ 19 वां शिखर सम्मेलन सफलतापूर्वक आयोजित करने के लिए जरूरी मंत्रणा शुरू करेगा।’

Read Also:  अब श्रीलंका भी आया भारत के साथ, कहा- सार्क सम्मेलन में नहीं जाएंगे पाकिस्तान

19वां दक्षेस सम्मेलन पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में नौ और दस नवंबर को आयोजित होना था। लेकिन शुक्रवार को भारत, बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान द्वारा अपने हाथ खींच लेने के बाद इस सम्मेलन को स्थगित कर दिया गया था। इन देशों ने परोक्ष तौर पर पाकिस्तान पर ऐसा माहौल बनाने का आरोप लगाया था, जो इस बैठक की सफलता के लिए सही नहीं है। बाद में श्रीलंका ने भी इस सम्मेलन से हाथ खींच लिए। दक्षेस के सदस्य देशों में अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल, मालदीव, पाकिस्तान और श्रीलंका शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 2, 2016 5:40 pm

  1. No Comments.
सबरंग