May 29, 2017

ताज़ा खबर

 

नवाज शरीफ की पार्टी के सांसद ने कहा- “हाफिज सईद हमारे लिए कौन से अंडे दे रहा है जो हम उसे पाल रहे हैं

पाकिस्तानी सांसद ने कहा पाकिस्तान में अपने 25 साल के राजनीतिक करियर में मैंने हाफिज सईद को कभी नहीं देखा लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसके बारे में काफी चर्चा है।

आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का प्रमुख हाफिज सईद। (फाइल फोटो)

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का प्रमुख हाफिज सईद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुख्यात है लेकिन पाकिस्तान में वो खुलेआम बेफिक्र घूमता है। लेकिन अब ऐसा लगने लगा है कि पाकिस्तान में भी उसे लेकर विरोध की आवाज उठने लगी है। गुरुवार (6 अक्टूबर) को पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली की विदेश मामलों की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक के दौरान पाकिस्तान की सत्ताधारी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के सांसदों ने अपनी ही सरकार पर हाफिज सईद को संरक्षण देने को लेकर सवाल खड़ा किया। पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार पीएमएल-एन के सांसद एमएनए राणा मोहम्मद अफजल ने बैठक में कहा कि उन्हें फ्रांसीसी थिंक टैंक से कश्मीर के मुद्दे पर बात करने के दौरान पाकिस्तान में जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद की मौजूदगी और कश्मीर में उसकी भूमिका बताने में काफी मुश्किल हुई। राणा अफजल ने बैठक में कहा, “वो (थिंक टैंक) मुझसे बार-बार हाफिज सईद के बारे में पूछ रहे थे और मुझे पाकिस्तान और कश्मीर में उसकी भूमिका का समर्थन करने में दिक्कत हो रही थी। मुझे हैरत है कि पाकिस्तान में अपने 25 साल के राजनीतिक करियर में मैंने उसे कभी नहीं देखा लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसके बारे में काफी चर्चा है।”

वीडियो: राहुल गांधी ने भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी पर की विवादित टिप्पणी-

पाकिस्तानी विदेश सचिव सरताज अजीज कमेटी को भारत और पाकिस्तान के बीच जारी मौजूदा तनाव के बारे में जानकारी दे रहे थे। वहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कश्मीर का मुद्दा उठाने के लिए भेजे गए पाकिस्तानी सांसदों के प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों ने अपने अनुभव साझा किए। विदेश सचिव की तरफ इशारा करते हुए राणा अफजल ने कहा, “मैं नहीं जानता कि कश्मीर के मसले को आगे बढ़ाने में हाफिज  सईद का क्या योगदान है? हमारी विदेशी नीति हाफिज सईद के प्रभाव से मुक्त करने में क्यों विफल रही?” जब विदेश सचिव सरताज अजीज ने राणा अफजल को रोकने की कोशिश लेकिन वो नहीं रुके। राणा अफजल ने आगे कहा, “हाफिज सईद हमारे लिए कौन से अंडे दे रहा है जो हम उसे पाल रहे हैं” राणा अफजल ने कहा कि फ्रांस के ज्यादातर प्रबुद्ध लोग कश्मीर को भारत और पाकिस्तान का आपसी मामला मानते हैं। उन्होंने कहा, “हमें उन लोगों से छुटकारा पाना होगा जिनकी वजह से भारत हमारे मामले को कमजोर कर रहा है।”

Read Also: नवाज शरीफ की पार्टी के नेताओं के घर से मिले अवैध हथियार, एक्‍शन लेने के बजाय रोका गया सर्च ऑपरेशन

पीएमएल-एन की सांसद डॉक्टर नफीसा शाह ने भी सरकार से पाकिस्तान में मौजूद “गैर-कानूनी ताकतों” के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। शाह ने कहा कि ऐसी ताकतों की मौजूदगी से कश्मीर का मसला कमजोर पड़ता है और उनकी वजह से पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फजीहत का सामना करना पड़ता है। विदेश सचिव सरताज अजीज ने सांसदों से कहा कि पाकिस्तान में ऐसी ताकतों को कोई जगह नहीं है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान की भूमिका को स्वीकार करने लगा है। हालांकि जब डॉन अखबार के ईमेल से पूछे सवाल के जवाब में राणा अफजल ने हाफिज सईद पर कार्रवाई की मांग करने की बात से इनकार किया। हालांकि उन्होंने अखबार को बताया कि “हाफिज सईद के कारण भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को ब्लैकमेल करने का मौका मिलता है। अगर वो पाकिस्तान के लिए किसी काम का नहीं है तो हम उसकी मौजूदगी के कारण पाकिस्तान को नुकसान क्यों होने दें।”

Read Also: नवाज शरीफ सरकार को अपने ही सांसद ने लताड़ा, कहा- दुनिया भर में पाकिस्‍तान को बदनाम करा रहा हाफिज सईद, उस पर कसो लगाम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 7, 2016 11:50 am

  1. No Comments.

सबरंग