December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

पाकिस्‍तान: धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार हुई नेशनल जियोग्राफिक की मशहूर ‘अफगान गर्ल’

उसकी तस्‍वीर नेशनल जियोग्राफिक के जून 1985 अंक के कवर पर छपी थी, तब उसकी उम्र करीब 12 साल थी।

शरबत गुला को 1985 में ‘अफगान गर्ल’ के नाम से पहचान मिली थी। (Source: Nat Geo)

बचपन में अपनी डरावनी आंखों के जरिए तालिबान की दहशत को दुनिया के सामने लाने वाली महिला गिरफ्तार हो गई है। नेशनल जियोग्राफिक की मशहूर ‘अफगान गर्ल’ शरबत बीबी को पाकिस्‍तान में धोखााधड़ी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। बुधवार को पेशावर शहर से उसे फेडरल इनवेस्टिगेशन एजंसी ने उसके घर से पकड़ा। डॉन की खबर की अनुसार, शरबत बीबी पर कम्‍प्‍यूटराइज्‍ड नेशनल आइडेंडिटी कार्ड (CNIC) की धोखाधड़ी करने का आरोप है। बीबी ने पाकिस्‍तान और अफगान, दोनों नागरिकताएं ले रखी हैं, उसके दोनों आई-कार्ड बरामद कर लिए गए हैं। अधिकारियों ने कहा कि दिए गए पते पर मौजूद रिश्‍तेदारों ने फॉर्म में उसके बेटे के तौर पर दर्ज दो व्‍यक्तियोंa को पहचानने से इनकार कर दिया। इस संबंध में NADRA के अधिकारी आलोचना झेल रहे हैं कि उन्‍होंने बिना कानूनी कागजातों के विदेशी नागरिकों को CNIC जारी कर दिया। अधिकारियों ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

पाकिस्‍तान में एक और आतंकी हमला, देखें वीडियो: 

शरबत बीबी ‘अफगान गर्ल’ के नाम से तब मशहूर हुई थीं जब नेशनल जियोग्राफिक के फोटोग्राफर स्‍टीवी मैककरी ने उनकी तस्‍वीर 1984 में पेशावार के किनारे स्थित नसीर बाग रिफ्यूजी कैंप खींची थी, तब उसकी पहचान शरबत गुला के नाम से हुई थी। शरबत को दुनिया भर में उसकी तस्‍वीर की वजह से पहचान मिली। उसकी तस्‍वीर नेशनल जियोग्राफिक के जून 1985 अंक के कवर पर छपी थी, तब उसकी उम्र करीब 12 साल थी। अपनी पहली तस्‍वीर के इतने मशहूर होने के बाद से वह गुमनामी की जिंदगी बिता रही थी। 2002 में उसे फिर से नेशनल जियोग्राफिक ने ढूंढ़कर निकाला था।

READ ALSO: IND vs NZ: माही ने दिखाया जादू, विकेट्स की तरफ देखा तक नहीं और रॉस टेलर को कर दिया रन-आउट

यह तस्‍वीर लाल स्कार्फ़ पहने, हर आंखों वाली जवान शरबत गुला की है जो कैमरे की तरफ काफी गंभीरता से देख रही हैं। इसे लियोनार्डो दा विन्ची की पेंटिंग मोनालिसा से भी जोड़कार देखा गया है। इसे पहली दुनिया की तीसरी मोनालिसा भी कहा गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 5:52 pm

सबरंग