ताज़ा खबर
 

मैक्सिकन लड़की कार्ला जैसिंटो की आपबीती: ’43 हजार 200 बार मेरा रेप किया गया’

कार्ला ने कहा कि उसे बचपन में ही मां ने छोड़ दिया था। पांच साल की उम्र में ही उसके साथ एक रिश्तेदार ने यौन शोषण किया। कार्ला ने कहा कि जब मैं 12 साल की थी, तब एक तस्कर मुझे प्यार के सब्‍जबाग दिखाकर अपने साथ ले गया।
फोटो सौजन्‍य: सीएनएन

अमेरिका और मैक्सिको में मानव तस्‍करों ने हजारों लड़कियों की जिंदगी को नर्क से भी बदतर बना दिया है। ताजा मामला कार्ला जैसिंटो नाम की लड़की का है। मैक्सिको सिटी की कार्ला को कुछ ही दिन पहले ही मानव तस्करों से मुक्त कराया गया है। कार्ला बताया कि उसके साथ चार साल तक हर रोज 30 बार दुष्‍कर्म किया जाता था। उसने कहा, ‘बीते सालों में मेरे साथ करीब 43 हजार 200 बार रेप किया गया।’

कार्ला ने बताया कि बचपन में ही उसकी मां ने उसे छोड़ दिया था। 5 साल की उम्र में एक रिश्तेदार ने उसका यौन शोषण किया। वह बताती है कि जब वह 12 साल की थी तब एक मानव तस्कर की नजर उस पर पड़ी। वह शहर के एक मेट्रो स्टेशन के पास खड़ी होकर अपने दोस्तों का इंतजार कर रही थी। तभी कैंडी बेचने वाला एक लड़का उसके पास आया और उसे कैंडी देकर कहा कि ये किसी ने उसके लिए एक गिफ्ट भेजा है। थोड़ी देर बाद एक आदमी उसके पास आया और उसने कार्ला को बताया कि वह पुरानी कार खरीदने बेचने का काम करता है। उसी ने कैंडी भिजवाई थी और वह उससे प्‍यार करता है। उस आदमी ने कार्ला को अपना नंबर दिया और उसका नंबर ले लिया। करीब एक हफ्ते बाद उस आदमी ने कार्ला को फोन किया और उसे अपने साथ एक ट्रिप पर जाने का ऑफर किया। लड़की उस ऑफर को ठुकरा नहीं सकी और उस अंजान लड़के के जाल में फंस गई।

प्रेमी के चचेरे भाई ने बनाया वेश्‍या

वह आदमी एक लाल रंग की महंगी कार में उसे बैठाकर अपने साथ ले गया। वह एक ऐसी जगह थी जहां हर तरफ लाल झंडे लगे थे। एक दिन जब कार्ला को रात में घर आने में देर हो गई तो वह आदमी उसे अपने साथ ले गया। फिर कुछ दिन बाद उसका प्रेमी हफ्तेभर के लिए कार्ला को घर पर अकेला छोड़कर किसी काम से बाहर चला गया। इसी दौरान कार्ला ने देखा कि उस आदमी का चचेरा भाई हर दिन उसके जैसी नई लड़की साथ लेकर आता। फिर एक दिन कार्ला ने उससे पूछा कि आप लोग क्या काम करते हैं। तब उस लड़के ने बताया कि वे वेश्‍यावृत्ति के धंधे में लिप्‍त हैं। कार्ला के मुताबिक उस दिन के बाद उस आदमी ने उसे सबकुछ बताना शुरू कर दिया। वह उसे यौन आसन, यौन प्रकिया के साथ-साथ यह भी सिखाने लगा कि उसे कैसे ग्राहक से बात करनी होगी, कैसे उसका दिल जीतना होगा, कैसे उसका रिझाना होगा और इस काम के लिए कितना पैसा लेना होगा।’ इसी के बाद से कार्ला का बुरा वक्त शुरू हो गया था। उसे मेक्सिको के सबसे बड़े शहरों में एक ग्वाडलहारा ले जाया गया। जहां कार्ला को वेश्या के रूप में काम करने पर मजबूर किया गया। वह सुबह 10 बजे से काम शुरू करती और आधी रात तक यही सिलसिला चलता रहता। वह सात दिन तक वहां रही। हर दिन 20 से 30 लोग उसके जिस्म को नोंचने लगे। वह रोती रही।

टिनांनसिंगो है वेश्‍यावृत्तित का प्रमुख कस्बा:

आपको बता दें कि कार्ला के साथ मैक्सिको के जिस बदनाम इलाके में जुल्‍म हुआ है, उसका नाम टिनांनसिंगो है। हालांकि, यहां की आबादी करीब 13 हजार के आस-पास है, लेकिन वेश्‍यावृत्तित के लिए यह जगह कुख्यात है। इस क्षेत्र में वेश्‍यावृत्ति ही रोजगार का एकमात्र साधन है।छोटे कस्बों और ग्रामीण इलाकों में युवा लड़कियों को पता ही नहीं होता है कि उस जगह से आने वाले पुरुष संदिग्ध हैं। लड़कियों को लगता है कि उन पुरुषों के साथ उनका भविष्य उज्जवल होगा और वे मानव तस्करों के झांसे में आ जाती हैं। लड़कियों को लगता है कि पुरुष उनसे प्यार करते हैं और हर बार वेश्यावृत्‍ति में लड़कियों को धकेलने की यही कहानी दोहराई जाती है।

पिछले महीने मिली थी 2600 फीट लंबी सुरंग

अमेरिका-मैक्सिको बॉर्डर नशीले पदार्थ और लड़कियों की तस्‍करी का कितना बड़ा अड्डा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यहां पिछले महीने 2600 फीट लंबी सुरंग मिली थी। इसमें रेल कार सिस्टम तक मौजूद थे। तस्कर इसके जरिये ही नशीले पदार्थ सीमा के इस बार से उस पार तक ले जाया करते थे। बताया जा रहा है कि यह सुरंग मैक्सिको की कड़ी सुरक्षा वाली जेल से जुलाई में भागने वाले तस्कर जैक्विन गुजमैन के लिए बनाई गई थी। इस क्षेत्र में जैक्विन का सिक्‍का चलता है। अमेरिका-मैक्सिको बॉर्डर पर पिछले कुछ साल में इस तरह की कई सुरंगें मिल चुकी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग