ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान के सेना प्रमुख के साथ मुलाकात रही कारगर: जॉन केरी

अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है कि अमेरिका आए पाकिस्तानी सेना प्रमुख रहील शरीफ के साथ उनकी मुलाकात कारगर रही। लंबी विदेश यात्रा से लौटने और ‘थैंक्सगिविंग’ की छुट्टियों के बाद विदेश मंत्रालय के फॉगी बॉटम मुख्यालय में यह केरी की यह पहली आधिकारिक बैठक थी। केरी ने कल इस बैठक के बाद […]
Author December 1, 2014 10:55 am
अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी की कार का छोटा सा ऐक्सिडेंट

अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है कि अमेरिका आए पाकिस्तानी सेना प्रमुख रहील शरीफ के साथ उनकी मुलाकात कारगर रही।
लंबी विदेश यात्रा से लौटने और ‘थैंक्सगिविंग’ की छुट्टियों के बाद विदेश मंत्रालय के फॉगी बॉटम मुख्यालय में यह केरी की यह पहली आधिकारिक बैठक थी।

केरी ने कल इस बैठक के बाद ट्वीट किया, ‘‘डीसी पोस्ट में वापसी- थैंक्सगिविंग । पाकिस्तान के सेना प्रमुख रहील शरीफ के साथ विदेश मंत्रालय में बैठक कारगर रही।’’

इस बैठक की कोई और जानकारी तत्काल उपलब्ध नहीं हो सकी है ।

केरी द्वारा उनके ट्विटर एकाउंट पर पोस्ट की गई तस्वीर में अमेरिकी विदेश मंत्री पाकिस्तान के सैन्य प्रमुख जनरल शरीफ से हाथ मिलाते दिखाई दे रहे हैं। शरीफ सेना की वर्दी की बजाय सामान्य कपड़ों में थे ।

पाकिस्तान के शीर्ष कमांडर के रूप में अमेरिका की अपनी पहली यात्रा के दौरान जनरल शरीफ लगभग दो सप्ताह तक अमेरिका में रूके। यह किसी पाकिस्तानी सैन्य प्रमुख द्वारा यहां रूकने की सबसे लंबी अवधि में से एक है।

अमेरिका प्रवास के दौरान पाक सैन्य प्रमुख ने अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार सुसन राइस, अपने अमेरिकी समकक्ष रेमंड टी ओडियर्नो और अमेरिकी मध्य कमान के कमांडर समेत अन्य सैन्य कमांडरों से मुलाकात की।

ट्वीट्स की श्रृंखला में इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स के महानिदेशक मेजर जनरल आसिम बाजवा ने कहा कि जनरल राहील ने केरी के साथ बैठक में क्षेत्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर पाकिस्तान का रूख सामने रखा।

बाजवा ने कहा कि केरी ने आतंकवाद से लड़ने में पाकिस्तान की भूमिका और उसके योगदान को मान्यता दी। विदेश मंत्री ने पाकिस्तानी सेना के पेशेवराना अंदाज की सराहना की और इसे एक वास्तविक जुड़ावकारी बल बताया।

केरी ने क्षेत्रीय स्थिरता की ओर एक कदम के रूप में पाक-अफगान संबंधों में हुए सुधार का स्वागत किया और इस संदर्भ में पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

यह यात्रा दर्शाती है कि अमेरिका एक बार फिर पाकिस्तानी सेना के साथ जुड़ने के लिए तैयार है। पाकिस्तानी सेना देश में हालिया सत्ता संघर्ष में एक बार फिर मजबूत बनकर उभरी थी।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग