ताज़ा खबर
 

शार्क के हमले के बावजूद 29 घंटे समुद्र में रहा यह शख्स, परिवार की याद ने रखा जीवित

दोस्तों के साथ समुद्र के रास्ते इंडोनेशिया घूमने जा रहे थे। रात के अंधेरे में वह अचानक पानी में गिर गए और उन्होंने लाइफ जैकेट भी नहीं पहनी थी।
उन्होंने इन 29 घंटों को अपनी डायरी में लिखा है और दर्दनाक हादसे के हर पल को बयां किया है। (Photo: Daily Mail)

दो बच्चों के पिता ब्रेट आर्चीबल्ड एक क्रूज हॉलिडे पर गए थे, लेकिन अचानक पानी में गिर जाने के कारण उन्हे 29 घंटे तक समुद्र में गुजारने पड़े। ऐसा समुद्र जो खतरनाक शार्क मछलियों से भरा है। इतना ही नहीं उन्हें शार्क और जैली फिश के हमले का भी शिकार होना पड़ा। इसके अलावा उन्हें ना सिर्फ डिहाइड्रेशन से खुद को बचाकर रखना पड़ा, बल्कि एक बार तो उनकी आंख जाते-जाते बची। इतनी सब मुश्किलों के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और आखिरकार उनकी जान बच गई है। उन्होंने इन 29 घंटों को अपनी डायरी में लिखा है और दर्दनाक हादसे के हर पल को बयां किया है। उन्होंने बताया कि किस तरह अपने परिवार को याद करते हुए उन्होंने 29 घंटे बिताए।

डेली मेल के मुताबिक, ब्रेट अपने दोस्तों के साथ समुद्र के रास्ते इंडोनेशिया घूमने जा रहे थे। रात के अंधेरे में वह अचानक पानी में गिर गए और उन्होंने लाइफ जैकेट भी नहीं पहनी थी। वह लगातार खुद को पानी में जिंदा रखने की जद्दोजहद कर रहे थे। तभी उन्हें पीछे से किसी ने वार किया। वह तब तक समझ ही पाते कि एक बार फिर उसी जगह हमला हुआ। मुड़कर देखा तो यह एक शार्क थी। उन्होंने किसी तरह शार्क और इसके बाद जैली फिश से अपनी जान बचाई। अचानक उन्हें अपने बच्चों की याद आई। उन्होंने महसूस किया कि इस ट्रिप पर आने से बेहतर था अपनी 9 साल की बेटी डारा और छह साल की जैमी के साथ कुछ पल बिताते। साथ ही अपनी पत्नी को फोन करते। ऐसा ना कर पाने का मलाल उस समय वह महसूस कर रहे थे।

उनके पांव, हाथ और होठ का खून पूरी तरह जम चुका था। (Photo: Daily Mail) उनके पांव, हाथ और होठ का खून पूरी तरह जम चुका था। (Photo: Daily Mail)

Read Also: अमेरिकन टीवी स्‍टार किम कर्दाशियां को दिखाई बंदूक, लूट ले गए 1 अरब रुपए से ज्‍यादा का सामान

उनके पांव, हाथ और होठ में पूरी तरह खून जम चुका था। पानी के अंदर इतने घंटे गुजारने की वजह से उनका वजन 6 किलो कम हो चुका था। उन्हें उम्मीद थी कि जब सुबह उनके दोस्त उन्हें नाव पर नहीं देखेंगे तो ढूंढते हुए जरूर वापस आएंगे। और आखिरकार उनके कानों में घंटी की आवाज सुनाई दी। देखा तो उनके दोस्त आ रहे थे। दोस्तों ने उन्हें खींचकर बोट में लेटा दिया। अब वह सुरक्षित थे, लेकिन ब्रेट को अभी भी यकीन नहीं हो रहा था कि वह पानी से बाहर आ गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग