June 25, 2017

ताज़ा खबर
 

लंदन: जिस मस्जिद के बाहर हुआ हमला कभी वो थी कट्टरपंथियों का गढ़, एक दिन पहले ‘हमलावर’ को ‘मुसलमानों की निंदा’ पर फेंक दिया गया था पब से बाहर

मस्जिद के बाहर हुए इस हमले के चश्मदीद गवाहों के अनुसार मुख्य अभियुक्त ऑसबॉर्न ने हमले के बाद चिल्लाकर कहा था कि "मैं सभी मुसलमानों को मार दूंगा- मैंने अपना काम कर दिया।"

ब्रिटेन में मस्जिद के बाहर मारे गए शख्स को श्रद्धांजलि देते लोग। REUTERS/Marko Djurica

सोमवार (19 जून) को ब्रिटिश नागरिक डैरेन ऑसबॉर्न ने लंदन में एक मस्जिद के बाहर नमाज पढ़कर बाहर आ रहे मुसलमानों पर वैन चढ़ा दी थी। हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई और नौ लोग घायल हुए। उत्तरी लंदन के फिन्सबरी पार्क मस्जिद के बाहर हुए इस हमले के चश्मदीद गवाहों के अनुसार मुख्य अभियुक्त ऑसबॉर्न ने हमले के बाद चिल्लाकर कहा था कि “मैं सभी मुसलमानों को मार दूंगा- मैंने अपना काम कर दिया।” ब्रिटिश मीडिया के अनुसार पुलिस को जांच में पता चला है कि 47 वर्षीय ऑसबॉर्न को हमले के एक दिन पहले एक स्थानीय पब से “मुसलमानों की निंदा करने” और “उन्हें सबक सिखाने” की बात कहने पर बाहर फेंक दिया गया था। हमले के बाद पुलिस ने ऑसबॉर्न को गिरफ्तार कर लिया।

ब्रिटिश अखबार द टेलीग्राफ के अनुसार ऑसबॉर्न लंदन ब्रिज पर हुए आतंकी हमले के बाद से मुस्लिम विरोधी हो गया था। जून के पहले हफ्ते में एक आतंकवादी ने लंदन ब्रिज पर आम लोगों पर वैन चढ़ाकर सात लोगों की जान ले ली थी और 48 लोगों को घायल कर दिया था। ऑसबॉर्न का जन्म नार्थ समरसेट में हुआ था लेकिन उसका परिवार कार्डिफ में रहने चला आया था। ऑसबॉर्न कार्डिफ में अपनी पत्नी और बच्चे के साथ रहता था।

ब्रिटेन में जहां एक तरफ आतंकवादी हमले में बढ़ोतरी हुई है तो दूसरी तरफ मुस्लिम-विरोधी हिंसा भी बढ़ी है। ऑसबॉर्न के मुस्लिम पड़ोसियों के अनुसार उसका बरताव दोस्ताना था लेकिन पिछले कुछ हफ्तों में उसका रवैया बदल गया था। अखबार के अनुसार जून पहले हफ्ते में हुए आतंकी हमले के बाद ऑसबॉर्न ने एक 12 वर्षीय एशियाई लड़के पर आपत्तिजनक टिप्पणियां की थीं। फिन्सबरी पार्क ऑसबॉर्न के घर से करीब 160 मील दूर है।

इस समय इस्लाम का पवित्र महीना रमजान चल रहा है। हमले के समय मुस्लिम समुदाय के लोग मस्जिद से रमजान के दौरान रात को पढ़े जाने वाली विशेष नमाज तरावी पढ़कर बाहर आ रहे थे। ऑसबॉर्न ने जिस मस्जिद के बाहर हमला किया वो एक समय इस्लामी कट्टरपंथ का गढ़ थी। मस्जिद के पूर्व इमाम अबु हमला को अमेरिका में आतंकवादी गतिविधियों के लिए साल 2015 में आजीवन कारवास की सजा सुनाई गई थी। हमला ने इस मस्जिद में 1997 से 2003 तक खुतबा दिया था।

वीडियो- लंदनः नमाज पढ़कर मस्जिद से बाहर निकल रहे लोगों पर चढ़ाई वैन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on June 20, 2017 10:25 am

  1. No Comments.
सबरंग