ताज़ा खबर
 

जानिए गूगल ट्रांसलेट की मदद से कैसे परवान चढ़ी रूसी लड़की और दक्षिण अफ्रीकी लड़के की मोहब्बत

बेयर्स कोएड्जी और वेरा को अंग्रेजी समझ में नहीं आती थी और कोएड्जी को रसियन नहीं आता था। इन दोनों ने अपने बीच भाषा की बांधा को दरकिनार करने के लिए 'गूगल ट्रांसलेट' का सहारा लिया।
Author तेल अवीव | October 14, 2016 18:59 pm
प्रेमी युगल कोएड्जी को रसियन नहीं आती और वेरा को अंग्रजी नहीं आती, दोनों गूगल ट्रांसलेट के सहारे एक दूसरे की बात समझते हैं।

दक्षिण अफ्रीका के जोहांसबर्ग निवासी बेयर्स कोएड्जी की मुलाकात रूस की वेरा लैम्नकी से पेनपाल वर्ल्ड वेबसाइट पर मिले थे और पहली चैट में दोनों ने अपनी मेल आईडी एक दूसरे से एक्सचेंज की थी। बेयर्स कोएड्जी बताते हैं कि वेरा लैम्नकी से उनकी आमने-सामने से वह पहली मुलाकत थी और तब उन्होंने सिर्फ 5 मिनट एक दूसरे के साथ बिताया। हालांकि, दोनों के बीच इससे पहले कई महीनों तक पत्राचार होता रहा था। बेयर्स कोएड्जी बताते हैं कि उनकी प्रेमिका वेरा को अंग्रेजी समझ में नहीं आती थी और कोएड्जी को रसियन नहीं आता था। इन दोनों ने अपने बीच भाषा की बांधा को दरकिनार करने के लिए ‘गूगल ट्रांसलेट’ का सहारा लिया। वेरा बताती हैं कि जब उनके और कोएड्जी के बीच पत्राचार होता तो वह रसियन में लिखती थी और कोएड्जी अंग्रेजी में लिखते थे और गूगल ट्रांसलेट के जरिए दोनों अपनी अपनी भाषाओं में एक दूसरे का संदेश पढ़ते थे।

वीडियो: बर्थडे स्पेशल: 74 साल के हुए बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन

जब दोनों से पूछा गया कि आप दोनों जब एक दूसरे की भाषा समझ नहीं पाते तो एक दूसरे के साथ कैसे रहते हो? इस सवाल के जवाब में कोएड्ज कहते हैं जब भी कभी दोनों एक दूसरे की बात समझ नहीं पाते तो व्हाट्सएप मेसेज करते हैं। इसके बाद गूगल ट्रांसलेट का इस्तेमाल करके एक दूसरे की बात समझ लेते हैं। कोएड्ज बताते हैं कि वेरा रसियन में संदेश ऐसे लिखती हैं कि वह आसानी से अंग्रेजी में ट्रांसलेट किया जा सकता है। इन दानों कपल्स से जब पूछा गया कि आप दोनों गूगल ट्रांसलेट की मदद से एक दूसरे से कितनी बातें कर पाते होंगे? जवाब में ये दोनों कपल कहते हैं, ‘हम दोनों एक दूसरे की भाषा नहीं समझ पाते और इसके लिए गूगल ट्रांसलेट की मदद लेते हैं, फिर भी हम एक दूसरे से बौद्धिज्म से लेकर कम्प्यूटर गेम्स के बारे में तक बात करते हैं। हम शायद ही कुछ ऐसा हो जिस पर बात न करते हों।’

Read Also: लीक हुआ ट्यूबलाइट फिल्म में सोहेल खान का लुक, देखें तस्वीर

जब कोएड्स से पूछा गया कि क्या आपको लगता है कि सिर्फ चिठ्ठियों के जरिए बातचीत पर आधारित रिश्ते में भरोसा किया जा सकता है? कोएड्स जवाब देते हैं, ‘मुझे इसके बारे में बहुत नहीं पता लेकिन हां मैंये जरूर कह सकता हूं कि आप अगर ऐसे किसी से मिलते हैं तो उसके साथ लंबे समय तक टच में रहते हैं। जब आप एक दूसरे से मिल नहीं पाते, एक दूसरे को देख नहीं पाते तो आपके अंदर एक दूसरे को लेकर इमोशन्स बना रहता है। कोएड्ज और वेरा अपने इस रिश्ते के भविष्य के बारे में कहते हैं, ‘हमें एक दूसरे कोई एक्सपेक्टेशन नहीं है। हम दोनों खुश हैं कि हमारी मुलाकात इस तरह हुई। हम बस ऐसे ही साथ बने रहना चाहते हैं। हमें पता है कि आगे क्या होने वाला है।’

Read Also: तस्‍लीमा नसरीन ने तीन तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम पर्सनल बोर्ड से कहा- F*** off

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 6:59 pm

  1. No Comments.
सबरंग