ताज़ा खबर
 

जज ने हिलेरी को ईमेल के बारे में सवालों के लिखित जवाब देने को कहा

अदालत ने अपने आदेश में कहा कि ‘ज्यूडीशियल वॉच’ हिलेरी का 14 अक्तूबर तक सवाल भेज सकता है। आदेश के अनुसार, हिलेरी को 30 दिन में जवाब देना होगा।
Author वॉशिंगटन | August 21, 2016 03:11 am
डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन। (REUTERS Photo)

अमेरिका की एक संघीय अदालत ने राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को एक प्रहरी समूह के लिखित सवालों का जवाब देने को कहा है जो अमेरिका की विदेश मंत्री के रूप में उनके एक निजी ईमेल सर्वर के उपयोग से संबंधित हैं। यह आदेश यूएस डिस्ट्रिक्ट जज एमेट जी सुलीवान ने हिलेरी के खिलाफ दायर ‘ज्यूडीशियल वाच’ की एक याचिका पर दिया। ‘ज्यूडीशियल वाच’ ने पूर्व विदेश मंत्री से उनसे आमने सामने शपथपूर्वक सवाल पूछने की अनुमति मांगी है। बहरहाल, अदालत ने अनुमति देने से मना कर दिया। न्यायाधीश सुलीवान ने कहा कि अदालत का मानना है कि विदेश मंत्रालय के कामकाज के लिए क्लिंटनईमेल डॉट कॉम प्रणाली बनाने और उसका संचालन करने के उद्देश्य को लेकर क्लिंटन का स्पष्टीकरण जरूरी है।

‘ज्यूडीशियल वाच’ के अध्यक्ष टॉम फिटॅन ने कहा ‘हम खुश हैं कि इस संघीय अदालत ने हिलेरी को उनके ईमेल प्रकरण के बारे में कुछ प्रमुख सवालों के जवाब शपथपूर्वक लिखित में देने का आदेश दिया है।’ उन्होंने कहा कि यह निर्णय याद दिलाता है कि हिलेरी कानून से ऊपर नहीं हैं। अदालत ने विदेश मंत्रालय से कहा कि ‘फ्रीडम ऑफ इन्फॉर्मेशन एक्ट’ के तहत ‘ज्यूडीशियल वाच’ के मांगे संबंधी शेष सभी दस्तावेज 30 सितंबर तक जारी करे। अदालत ने अपने आदेश में कहा कि ‘ज्यूडीशियल वॉच’ हिलेरी का 14 अक्तूबर तक सवाल भेज सकता है। आदेश के अनुसार, हिलेरी को 30 दिन में जवाब देना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग