ताज़ा खबर
 

नजरबंदी के बाद आतंकी हाफिज सईद के पाकिस्‍तान छोड़ने पर भी लगा प्रतिबंध, दर्ज होगी एफआईआर

सईद की नजरबंदी के खिलाफ उसके समर्थकों ने लाहौर, मुलतान, फैसलाबाद, गुजरांवाला, सियालकोट, पेशावर और क्वेटा समेत विभिन्न शहरों में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए।
जमात उत दावा का सरगना हाफिज सईद। (फोटो: रॉयटर्स)

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने हाफिज सईद समेत 37 अन्‍य लोगों के देश छोड़कर बाहर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। सईद के अलावा 37 अन्‍य को पाकिस्‍तान की इंटीरियर मिनिस्‍ट्री ने एग्जिट कंट्रोल लिस्‍ट में रख दिया है। इस सूची में शामिल लोगों का देश की सीमा से बाहर जाना प्रतिबंधित होता है। बुधवार को ही पाकिस्तान के एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा था कि जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि किस मामले में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड के खिलाफ मामला दर्ज होगा। पंजाब प्रांत के गृहविभाग से हिरासत के आदेश के बाद सईद और उसके चार सहयोगियों को सोमवार (30 जनवरी) नजरबंद कर दिया गया था। नजरबंदी के बाद उसके समर्थकों ने सरकार के इस फैसले को अमेरिका और भारत के दबाव में उठाया गया कदम बताया और पूरे पाकिस्तान में विरोध प्रदर्शन का सिलसिला शुरू कर दिया।

प्रांतीय अधिकारियों ने लाहौर की सड़कों से जमात-उद-दावा के बैनर हटाने भी शुरू कर दिए हैं। प्रांतीय गृह विभाग के आदेश पर लाहौर में जमात-उद-दावा के दफ्तरों पर पार्टी के झंडों के बजाय राष्ट्रीय झंडे फहराए गए हैं। वाणिज्य मंत्री खुर्रम दस्तगीर ने कहा, ‘सारे हालात को ध्यान में रखते हुए सईद के खिलाफ कदम उठाया गया है। सरकार ने फिलहाल सईद को नजरबंद किया है, पर उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।’ यह पूछे जाने पर किस मामले में सईद के खिलाफ मामला दर्ज होगा तो दस्तगीर ने कहा, ‘कुछ दिनों में इस बारे में पता चल जाएगा।’

सईद की नजरबंदी के खिलाफ उसके समर्थकों ने लाहौर, मुलतान, फैसलाबाद, गुजरांवाला, सियालकोट, पेशावर और क्वेटा समेत विभिन्न शहरों में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार नजरबंदी के खिलाफ सईद के समर्थकों ने इस्लामाबाद में भी प्रदर्शन किए।  पंजाब प्रांत के कानून मंत्री राना सनाउल्ला ने कहा कि आने वाले दिनों में जमात-उद-दावा (जेयूडी) एवं फलाह-ए-इंसानियत (एफआईएफ) के और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया जाएगा।

गृह मंत्रालय सईद की गिरफ्तारी के बाद के हालात पर निगरानी रख रहा है। सईद के समर्थकों का आरोप है कि नवाज शरीफ की सरकार ने उस अमेरिका की इच्छा के आगे घुटने टेक दिए हैं, जिसने सईद की गिरफ्तारी से जुड़ी जानकारी देने के लिए एक करोड़ डॉलर के इनाम की घोषणा कर रखी है।

हाफिद सईद के खिलाफ दर्ज होगी FIR; पाकिस्तानी मंत्री ने दी जानकारी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग