December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

बदला लेने के लिए IS आतंकियों के सिर काटकर पकाती है यह इराकी महिला

खुद को 'गृहणी' बताने वाली वहीदा ने फेसबुक पर एक तस्‍वीर जारी की जिसमें वह एक कटा हुआ सिर पकड़े दिख रही हैं।

इराकी सैनिकों के साथ वहीदा। (Source: Facebook)

इराक की एक आम सी गृहणी अब इस्‍लामिक स्‍टेट के आतंकियों के लिए खौफ की वजह बन चुकी है। वहीदा मोहम्‍मद अल-जुमैली नाम की इस महिला को दुनिया के सबसे खौफनाक आतंकी संगठन ने कई बार जान से मारने की धमकी दी है, मगर वही उनसे सबसे ज्‍यादा डरता भी है। 39 साल की वहीदा ने अपने परिवार के सदस्‍यों की मौत का बदला लेने के लिए आईएस आतंकियों के न सिर्फ सिर काटे हैं, बल्कि उन्‍हें पकाया भी है। इस्‍लाम‍िक स्‍टेट के लड़ाके किसी महिला के हाथों मारे जाने से डरते हैं क्‍योंकि फिर वो ‘जन्‍नत’ नहीं जाएंगे। पिछले साल, आईएस ने वहीदा के पिता और तीन भाइयों को मौत के घाट उतार दिया था। इस साल की शुरुआत में आतंकियों ने उनके दूसरे पति को भी मार डाला। वहीदा ने सीएनएन से बातचीत में कहा, ”मैं उनसे लड़ी, मैंने उनके सिर काटे, मैंने उनके सिर पकाए, मैंने उनकी लाशें जलाईं। उन्‍होंने मुझे छह बार मारने की कोशिश की। मेरे सिर और पैरों में बमों के टुकड़े धंसे हैं, मेरी पसलियां टूट चुकी हैं।” लेकिन इससे वहीदा के बदले की भावना कम नहीं हुई।

एनकाउंटर में मार गिराए गए आतंकी, देखें वीडियो: 

खुद को ‘गृहणी’ बताने वाली वहीदा ने फेसबुक पर एक तस्‍वीर जारी की जिसमें वह एक कटा हुआ सिर पकड़े दिख रही हैं। एक अन्‍य फोटो में वह एक बर्तन में दो कटे हुए सिर पकाते दिखाती हैं। एक तीसरी फोटो में वह आईएस लड़ाकों की बिना सिर वाली और जली हुई लाशों के ऊपर खड़ी नजर आ रही हैं। वहीदा ने 2004 में आईएस के खिलाफ हथ‍ियार उठाए थे और तबसे वह इराकी सेनाओं के साथ काम कर रही हैं। वह आईएस और आतंक के खिलाफ जंग में सेना की मदद करती हैं। उन्‍होंने शहीदों के दौरे पर अपना परिवार खोया। बदले में वहीदा ने अपनी सेना खड़ी की, जिसे इराकी सेना के कमांडर ने हथियार दिए हैं।

इराक ने मंगलवार (1 नवंबर) को घोषणा की कि उसके सैनिकों ने दो वर्ष बाद मंगलवार को पहली बार जिहादियों के कब्जे वाले मोसुल शहर में प्रवेश किया। गौरतलब है कि करीब दो वर्ष पहले इस्लामिक स्टेट समूह ने इस शहर पर कब्जा कर लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 1:40 pm

सबरंग