ताज़ा खबर
 

ISIS ने किया बगदाद में विस्फोट, 3 पुलिसकर्मियों की मौत और कई लोग घायल

बगदाद में शुक्रवार रात एक भीषण विस्फोट ने मध्य जिले को हिलाकर रख दिया, जहां विगत में कई बार कार बम हमले हुए हैं।
Author नई दिल्ली | April 29, 2017 05:33 am
बगदाद में विस्फोट

इराक की राजधानी बगदाद से बड़ी खबर आ रही है।  जहां पर शुक्रवार रात एक भीषण विस्फोट ने मध्य जिले को हिलाकर रख दिया, जहां विगत में कई बार कार बम हमले हुए हैं। तत्काल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि विस्फोट किसे निशाना बनाकर किया गया। एक संवाददाता ने बताया कि कर्राडा इलाके में स्थानीय समयानुसार रात 11 बजे यानी भारतीय समयानुसार रात डेढ़ बजे से थोड़ा पहले हुए विस्फोट से आसमान चमक उठा और मलबा आकाश में उड़ता नजर आया। इस हमले में 4 लोगों की मौत और अन्य कई घायल हुए हैं। आतंकी संगठन ISIS ने इस हमले की जिम्मेदारी ले ली है। आतंकियों ने सुसाइडर कार बॉम के जरिए हमला किया था। हादसे के बाद इंटीरियर मिनिस्ट्री का बयान आया है, जिसमें बताया गया है कि आतंकी हमले में मारे गए व्यक्ति 3 पुलिस वाले शामिल थे। साथ ही इस बयान में यह भी कहा गया है कि घायलों की संख्या के बारे में अभी तक ज्यादा जानकारी नहीं है। बताया जा रहा है कि आतंकियों का निशाना पुलिस वालों पर ही था।

गौरतलब है इससे पहले दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस का चीफ अबु बकर अल बगदादी के ईराक में घिरे होने की खबरें कई बार सामने आ चुके हैं। हाल ही में अमेरिका द्वारा दावा किया गया था कि बगदादी को कभी भी मारा जा सकता है। इन सबके बीच अगर कुर्दिश अधिकारियों की मानें तो आईएस का सरगना अपने लड़ाकों द्वारा सड़कों को खुलवाकर मोसुल से निकलने में कामयाब हो गया है। कुर्दिश राष्ट्रपति मुसौद बरजानी के चीफ ऑफ स्टाफ फुवाद हुसैन ने ‘द इंडिपेंडेंट’ को दिए इंटरव्यू में कहा, “बगदादी मोसुल से अपने आत्मघाती हमलावरों की मदद से भागने में सफल रहा है। आईएसआईएस ने मोसुल और सीरिया में अपने 17 आत्मघाती कार बमों का प्रयोग मोसुल से बाहर जाने वाले रास्तों को कुछ घंटों के लिए क्लियर कर लिया था।” उन्होंने कहा कि उनका और अन्य कुर्दिश नेताओं का मानना है कि इस्लामिक स्टेट तब ही इस तरह के आत्मघाती हमले को अंजाम देता है, जब उसे बगदादी को सुरक्षित करना होता है।

पूर्व मोसुल में इस्लामिक स्टेट की हार और पश्चिमी मुसोल में इराकी सुरक्षाबलों द्वारा 19 फरवरी को किए हमले के बाद बगदादी भागा था। हुसैन ने कहा कि ISIS सीरिया से अपने साथ 300 लड़ाकों की फौज लाया था और बहुत ही भयानक लड़ाई हुई। ऐसे में इस्लामिक स्टेट के मुखिया बगदादी के लिए मोसुल से भागने का सिर्फ एक ही रास्ता था और वो पश्चिम की ओर था। हालांकि इस इलाके पर शिया आंतकी संगठन हशद अल-साबी का कब्जा था, लेकिन आईएस द्वारा भीषण फायरिंग के बाद उसे पीछे हटना पड़ा। उन्होंने कहा कि मेरा खुद का मानना है कि अल बगदादी भागने में काबयाब रहा। रेडियो संदेशों से पता चला है कि ऑपरेशन सफल होने के कारण लड़ाके जश्न मना रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.