ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान की आईएसआई के संरक्षण में छिपा हुआ है ओसामा का उत्‍तराधिकारी, अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट का दावा

‘न्यूजवीक’ के मुताबिक, ‘‘आज उसका संभावित ठिकाना, वे कहते हैं कि कराची है, जो अरब सागर के किनारे बसा शहर है, जिसकी आबादी 2.6 करोड़ है।’’
Author April 22, 2017 19:37 pm
पिछले कई सालों में ऐसा पहली बार हुआ है कि अल-कायदा प्रमुख के छुपने के ठिकाने के बारे में कोई खबरिया रिपोर्ट आई है। (PTI)

अमेरिकी मीडिया की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के सबसे खूंखार आतंकवादियों में से एक और अल-कायदा के नेता आयमान अल-जवाहिरी के पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के संरक्षण में कराची में छुपे होने की पूरी संभावना है। साप्ताहिक ‘न्यूजवीक’ ने एक बड़ी खोजी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उसकी सूचना कई आधिकारिक सूत्रों पर आधारित है। रिपोर्ट में ‘न्यूजवीक’ ने कहा, ‘‘ साल 2001 में अमेरिकी सुरक्षा बलों की ओर से अल-कायदा को अफगानिस्तान से खदेड़ने के बाद से पाकिस्तान की आईएसआई अल-जवाहिरी, जो प्रशिक्षित सर्जन हैं, को बचा रही है।’’

‘न्यूजवीक’ के मुताबिक, ‘‘आज उसका संभावित ठिकाना, वे कहते हैं कि कराची है, जो अरब सागर के किनारे बसा शहर है, जिसकी आबादी 2.6 करोड़ है।’’

पिछले कई सालों में ऐसा पहली बार हुआ है कि अल-कायदा प्रमुख के छुपने के ठिकाने के बारे में कोई खबरिया रिपोर्ट आई है । जवाहिरी ओसामा बिन लादेन का उत्तराधिकारी है। सीआईए के शीर्ष अधिकारियों में से एक रहे बू्रस राइडेल ने पत्रिका को बताया, ‘‘हर चीज की तरह उसके ठिकाने के बारे में भी कोई सबूत नहीं है।’’

राइडेल पिछले चार अमेरिकी राष्ट्रपतियों के साथ दक्षिण एशिया और मध्य पूर्व मामलों के शीर्ष सलाहकार के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ऐबटाबाद (पाकिस्तान), जहां लादेन मारा गया था, में पाई गई कुछ सामग्री सहित कुछ अच्छे-खासे संकेत हैं। यह छुपने के लिए एक तार्किक जगह होगी, जहां वह काफी सहज महसूस करेगा कि अमेरिकी वहां नहीं आ सकते और उसे नहीं पकड़ सकते।’’

राइडेल ने पत्रिका को बताया कि कराची अमेरिका की ओर से वैसी छापेमारी करने के लिए एक ‘‘बहुत मुश्किल’’ जगह होगी कि वह दो मई 2011 जैसी कार्रवाई कर सके। इसी कार्रवाई में लादेन मारा गया था।

देखिए वीडियो - कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा मिलने पर भारत का कड़ा रुख; रोकी पाकिस्तानी कैदियों की रिहाई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.