ताज़ा खबर
 

चीन और भारत ने सीमा पर सैनिक बढ़ाए

सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद इस कदर गरमा गया है कि दोनों तरफ से सीमा पर सैन्य गतिविधियां तेज हो गई हैं।
Author नई दिल्ली | July 20, 2017 02:44 am
अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर भारतीय और चीनी सैनिक बात करते हुए। (फाइल फोटो)

सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद इस कदर गरमा गया है कि दोनों तरफ से सीमा पर सैन्य गतिविधियां तेज हो गई हैं। दोनों देशों ने अपनी अग्रिम चौकियों पर सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है। भारत सरकार राजनयिक चैनल के जरिए बातचीत से मसले को हल करने की कोशिश में है और चीन की गतिविधियों पर चौकन्नी निगाह रखी जा रही है। रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार सिक्किम सेक्टर में भारतीय सेना की अतिरिक्त तीन डिवीजन भेजी गई हैं। जवानों को पीछे हटाने और अग्रिम चौकियों से नीचे ले जाने के लिए चीन सरकार भारत पर लगातार दबाव बना रही है। अमेरिका ने गतिरोध को लेकर चिंता जताई है।

चीन के सरकारी मीडिया के जरिए वहां की सरकार लगातार आक्रामक दावे कर रही है। चीनी सेना के  मुखपत्र ‘द पीएलए डेली’ ने रिपोर्ट जारी की है कि पिछले दिनों सेना ने तिब्बत के पहाड़ी इलाकों में टनों सैन्य साजो-सामान, हथियार और गोला-बारूद की खेप पहुंचाई है। रिपोर्ट के अनुसार सेना की पश्चिमी कमान ने रेल और सड़क मार्ग के जरिए उत्तरी तिब्बत के कुनलुन पहाड़ियों के दक्षिणी इलाके में साजो-सामान पहुंचाए हैं। चीनी सेना की इस यूनिट के पास झिंजियांग और तिब्बत के अशांत इलाकों समेत भारत के साथ सीमा विवाद से निपटने की जिम्मेदारी है। भारत के लिए यह खबर चिंताजनक मानी जा रही है। भारतीय विदेश मंत्रालय के आला अधिकारियों के अनुसार उत्तरी तिब्बत से सिक्किम के नाथु- ला दर्रे का इलाका नजदीक पड़ता है। यहां डोकलाम में पिछले एक महीने से भारतीय और चीनी सेना आमने-सामने हैं। चीनी सेना इससे पहले तिब्बत के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र में लगभग पांच हजार मीटर की ऊंचाई पर 11 घंटे का युद्धाभ्यास कर चुकी है। कुछ जगहों पर युद्धाभ्यास अभी जारी है।

चीन के अन्य अखबार ‘साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट’ ने शंघाई स्थित एक सैन्य अधिकारी नी लेक्सियांग से बातचीत छापी है, जिसमें संभावना जताई गई है कि चीनी सेना का यह कदम डोकलाम में भारत के साथ सीमा विवाद से जुड़ा हो सकता है। उनके मुताबिक इसका मकसद भारत पर दबाव डालकर उसे बातचीत की मेज तक लाना हो सकता है। चीनी विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को डोकलाम से भारतीय सैनिकों को हटाने की मांग की थी। चीन ने मंगलवार को कहा था कि बीजिंग में विदेशी राजनयिक भारतीय जवानों द्वारा चीनी क्षेत्र में अवैध रूप से दाखिल होने की घटना को लेकर स्तब्ध हैं। इस बीच, सिक्किम सेक्टर में चल रहे गतिरोध को लेकर अमेरिका ने चिंता जताते हुए कहा कि दोनों देशों को साथ काम करके शांति व व्यवस्था के लिए रास्ते निकालने की कोशिश करनी चाहिए। वाशिंगटन से मिली खबरों के मुताबिक, प्रवक्ता हीदर नौअर्ट ने कहा कि अमेरिका मौजूदा स्थिति को देखते हुए चिंतित है।
सिक्किम सेक्टर में सैन्य गतिविधियां तेज

’चीनी सेना ने तिब्बत में अग्रिम मोर्चों पर हथियार और गोला बारूद की बड़ी खेप पहुंचाई, सिक्किम सेक्टर में भारत ने अतिरिक्त बटालियन भेजीं ’भारत राजनयिक चैनल के जरिए बातचीत से मसले को हल की कोशिश में है और चीन की गतिविधियों पर चौकन्नी निगाह रखी जा रही है ’अमेरिका ने कहा कि दोनों देशों को साथ काम करके शांति व व्यवस्था के लिए रास्ते निकालने की कोशिश करनी चाहिए

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग