December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

आॅस्ट्रेलिया में भारतीय मूल के बस चालक को जिंदा जलाया

आॅस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन शहर में दिल दहला देने वाली एक घटना में भारतीय मूल के 29 वर्षीय एक बस चालक की शुक्रवार जलने से मौत हो गई।

Author मेलबर्न | October 29, 2016 00:19 am

आॅस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन शहर में दिल दहला देने वाली एक घटना में भारतीय मूल के 29 वर्षीय एक बस चालक की शुक्रवार जलने से मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि बस में मौजूद भयभीत यात्रियों के सामने ही एक व्यक्ति ने भारतीय मूल के चालक पर ज्वलनशील तरल पदार्थ उड़ेल दिया, जिसके कारण जलने से उसकी मौत हो गई। मनमीत अलीशर पंजाबी समुदाय में जाना माना गायक था और ब्रिस्बेन सिटी काउंसिल बस चला रहा था, जब एक व्यक्ति ने उस पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसे जला डाला। क्वींसलैंड की राजधानी ब्रिस्बेन में पुलिस ने बताया कि अलीशर की मौके पर ही मौत हो गई जबकि बस में सवार कई यात्री पिछले दरवाजे से भागने में सफल रहे।
उन्होंने बताया कि सांस की समस्या और मामूली चोट लगने से घायल हुए कुछ लोगों को उपचार के लिए पास के अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने बताया कि घटना में किसी आतंकी या नस्ली संबंधी कोई स्पष्ट मकसद नजर नहीं आता।

घटना के सिलसिले में 48 वर्षीय एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया। पुलिस आयुक्त इयान स्टीवर्ट ने बताया कि दक्षिणी ब्रिस्बेन जिला और राज्य अपराध कमान के जांचकर्ताओं ने मामले में जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक जांच में यह पता चला कि सुबह नौ बजे (स्थानीय समयानुसार) के तुरंत बाद ब्यूडेजर्ट मार्ग पर उस बस में जब यात्री सवार हुए, तभी एक व्यक्ति ने चालक पर ज्वलनशील पदार्थ फेंका, जिसमें आग लग गई। पुलिस ने बताया कि बस में छह यात्री सवार थे और बस जब ब्यूडेजर्ट मार्ग पर मूरवेल शॉपिंग सेंटर से तीन यात्रियों को लेने के लिए रुकी तभी यह घटना हुई। अलीशर के सम्मान में शनिवार को समूचे ब्रिस्बेन में झंडे आधे झुके रहेंगे। बहरहाल, स्टीवार्ट ने नस्ली भावना से किए गए हमले की किसी संभावना से इनकार किया है और कहा है कि इस तरह के कोई संकेत नहीं हैं।

स्टीवर्ट ने कहा, ‘इस वक्त घटना के किसी भी किस्म की आतंकवादी गतिविधि से संबंध होने के साक्ष्य नहीं हैं और निश्चित तौर पर इस संबंध में चल रही जांच के माध्यम से यह स्पष्ट तौर पर सामने नहीं आया है। हम नहीं मानते कि मामला किसी नस्ली शिकायत से जुड़ा है या इसमें ऐसे किसी व्यक्ति के शामिल होने का कोई सबूत हैं।’ उन्होंने बताया, ‘इस वक्त हम इसके वास्तविक मकसद को नहीं जानते, लेकिन मैं समुदाय के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम इन घटनाओं को बेहद गंभीरता से ले रहे हैं इसलिए एहतियात के तौर पर राज्य सुरक्षा एवं आतंकवाद रोधी समूह के अधिकारियों को इसमें शामिल किया गया है।’

बहरहाल, ब्रिस्बेन में पंजाबी समुदाय ने अलीशर की मौत पर दुख जताया है। मनमीत अलीशर को मनमीत शर्मा के नाम से भी जाना जाता था। क्वींसलैंड के पुलिस अधीक्षक जिम किओग ने बताया, ‘मेरे पास शब्द नहीं हैं। बेहद शांत मूरूका उपनगर में हुई यह एक भयानक घटना है।’ उन्होंने कहा, ‘यह गनीमत है कि पूरी बस में आग नहीं लगी। वे सदमे में थे…।’
स्टेट प्रीमियर अनास्तासिया पालासजुक ने भी घटना पर शोक जताया और कहा कि क्वींसलैंडवासियों की भावनाएं उनके साथ हैं। ब्रिस्बेन के महापौर ग्राहम किर्क ने कहा, ‘काउंसिल और इस वृहद समुदाय के लिए यह बहुत, बहुत दुख भरा दिन है, जिसने इस तरीके से हमारे एक चालक को खोया है।’ उन्होंने बताया कि बस में मौजूद कैमरे में वारदात की घटना कैद हो गई है। ‘द ब्रिस्बेन टाइम्स’ के अनुसार समूचे क्वींसलैंड में बीते छह महीनों में बस चालकों पर हमले की 350 से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 29, 2016 12:18 am

सबरंग