ताज़ा खबर
 

चीन ने क्यों कहा, हिंद महासागर को भारत का ‘आंगन’ समझना परेशानी का सबब

चीन ने कहा है कि सामरिक रूप से महत्वपूर्ण हिंद महासागर क्षेत्र में स्थिरता लाने में वह भारत की विशेष भूमिका को स्वीकार करता है लेकिन इसे भारत का ‘‘बैकयार्ड’’...
Author July 2, 2015 09:27 am
चीन ने कहा, भारत ने हिंद महासागर और दक्षिण एशियाई क्षेत्र में स्थिरता में विशेष भूमिका अदा की है।’’

चीन ने कहा है कि सामरिक रूप से महत्वपूर्ण हिंद महासागर क्षेत्र में स्थिरता लाने में वह भारत की विशेष भूमिका को स्वीकार करता है लेकिन इसे भारत का ‘‘बैकयार्ड’’ समझने की धारणा परेशानी का सबब बन सकती है।

चीन के राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय के सामरिक संस्थान के ऐसोसिएट प्रोफेसर और सीनियर कैप्टन झाओ यी ने यहां भारतीय पत्रकारों और चीन की यात्रा पर आए भारतीय मीडिया प्रतिनिधिमंडल से बातचीत के दौरान कहा, ‘‘एक खुले समुद्र और समुद्र के अंतरराष्ट्रीय क्षेत्रों के लिए आंगन (बैकयार्ड) शब्द का इस्तेमाल करना बहुत अधिक उचित नहीं है।’’

हिंद महासागर में चीनी नौसेना के बढ़ते दखल पर भारत की चिंताओं के संबंध में किए गए एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘‘भूगौलिक स्थिति के हिसाब से बात करें तो मैं यह स्वीकार करता हूं कि भारत ने हिंद महासागर और दक्षिण एशियाई क्षेत्र में स्थिरता में विशेष भूमिका अदा की है।’’

उन्होंने कहा कि यदि भारत यह मानता है कि हिंद महासागर उसका आंगन है तो कैसे अमेरिका, रूस और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाएं हिंद महासागर में मुक्त आवाजाही करती हैं?

21वीं सदी में हिंद महासागर पर ध्यान केंद्रित होने और इसके परिणामस्वरूप कई संघर्ष छिड़ने की अमेरिकी शोधकर्ता की भविष्यवाणी का जिक्र करते हुए कैप्टन झाओ ने कहा कि वह अमेरिकी शोधकर्ता के विचारों से इत्तेफाक नहीं रखते लेकिन यदि हिंद महासागर को भारत का आंगन समझने की धारणा बनी रहती है तो ऐसी किसी आशंका से ‘समाप्त’ नहीं किया जा सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    Kumar
    Jul 2, 2015 at 10:47 am
    तो क्या चीन सी उसके बाप का है चीन अपने मूल चरित्र मई धोकेबाज है अभी कश्मीर पैर दिया उसका बयान एक तीर से कई निशाने बनाने की कोशिश है
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग